नई दिल्ली. मेलबर्न टेस्ट में टीम इंडिया ओपनिंग के नए प्रयोग के साथ उतरी थी, जो कि कामयाब रहा. डेब्यूडेंट मयंक अग्रवाल ने 76 रन की पारी खेलकर जो बुनियाद रखी उसे मजबूत इमारत देने में विराट-पुजारा की अनुभवी जोड़ी ने कोई कसर नहीं छोड़ी. ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की ईंट से ईंट बजाते हुए दोनों बल्लेबाज तीसरे विकेट के लिए अब तक 92 रन जोड़ चुके हैं. इस बेजोड़ साझेदारी के बूते भारत ने पहले दिन का खेल खत्म होने तक 2 विकेट खोकर 215 रन बना लिए हैं और मैच पर अपनी पकड़ मजबूत कर ली है.

पहले डराया, फिर चटकाया… कमिंस की 2 गेंदों ने किया हनुमा का ‘गेम ओवर’

रंग दिखा अब क्या रंग जमेगा?

मेलबर्न टेस्ट के पहले दिन भारतीय बल्लेबाजी की रंगत देखकर ये तो साफ हो गया कि टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का टीम इंडिया का फैसला सही रहा. भारत को जो शुरुआत चाहिए थी वो हनुमा और मयंक ने उसे दिलाई. हालांकि, पैट कमिंस की एक शॉर्ट पिच गेंद पर हनुमा सस्ते में निपट गए. लेकिन टीम इंडिया की बल्लेबाजी पर उसका असर नहीं हुआ क्योंकि डेब्यूडेंट मयंक अग्रवाल किसी मंझे हुए अनुभवी बल्लेबाज की तरह ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजी की धज्जियां उड़ा रहे थे. मयंक ने 161 गेंदों का सामना करते हुए 76 रन बनाए. इस पारी के दौरान उन्होंने पुजारा के साथ दूसरे विकेट के लिए 83 रन भी जोड़े. चाय से ठीक पहले मयंक को भी कमिंस ने ही आउट किया.

मयंक और हनुमा की ओपनिंग जोड़ी का कमाल, 7 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ मचाया धमाल

खूब रन बनाओ, दूसरी पारी से छुट्टी पाओ!

चाय के बाद पुजारा अपने नए साथी विराट कोहली के साथ मैदान पर उतरे और दोनों दिन का खेल खत्म होने तक नाबाद रहे. पुजारा 68 रन बनाकर नाबाद हैं तो विराट कोहली 47 रन पर नॉट आउट हैं. ऐसे में अब दूसरे दिन इनकी कोशिश भारतीय स्कोर बोर्ड को इतना बड़ा बनाने की होगी कि इन्हें दूसरी पारी खेलने की जरुरत ही न पड़े.