मेलबर्न: कप्तान विराट कोहली भारत की तरफ से विदेशी सरजमीं पर एक कैलेंडर वर्ष में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं. उन्होंने राहुल द्रविड़ को पीछे छोड़ यह उपलब्धि अपने नाम की और अब उनके पास मौका है कि वे विदेशी पिचों पर सबसे ज्यादा रन बनाने का वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम कर लें.

कोहली ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे टेस्ट क्रिकेट मैच के दूसरे दिन गुरुवार को अपनी 82 रन की पारी के दौरान यह रिकॉर्ड अपने नाम किया. कोहली के नाम पर वर्ष 2018 में विदेशी धरती पर 1138 रन दर्ज हो गए हैं. उन्होंने राहुल द्रविड़ द्वारा साल 2002 में बनाए गए 1137 रन के रिकॉर्ड को तोड़ा.

द्रविड़ का रिकॉर्ड अपने नाम करने के तुरंत बाद ही कोहली ने मिशेल स्टार्क की गेंद पर थर्ड मैन पर कैच थमा दिया. भारतीय कप्तान अगर दूसरी पारी में 74 रन बनाने में सफल रहते हैं तो एक कैलेंडर वर्ष में विदेशी पिचों पर सर्वाधिक रन का विश्व रिकॉर्ड भी उनके नाम पर हो जाएगा.

टिम पेन ने विकेट के लिए रोहित शर्मा से की डील की कोशिश, बोले- ‘छक्का लगाओ तो मुंबई को सपोर्ट करूंगा’

यह रिकॉर्ड अभी दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ के नाम पर है जिन्होंने 2008 में 1212 रन विदेशी धरती पर बनाए थे. स्मिथ के बाद वेस्टइंडीज के विवियन रिचर्ड्स (1154) का नंबर आता है जिन्होंने 1976 में यह रिकॉर्ड बनाया था. कोहली इस तालिका में तीसरे स्थान पर हैं.

विराट से आगे पर रवि शास्त्री से पीछे रहे पुजारा, मेलबर्न में लगाया टेस्ट करियर का सबसे धीमा शतक

कोहली ने इस साल दक्षिण अफ्रीका में तीन टेस्ट मैचों में 47.66 की औसत से 286 रन और इंग्लैंड में पांच टेस्ट मैचों 59.30 की औसत से 593 रन बनाए. वह ऑस्ट्रेलिया में तीन टेस्ट मैचों की पांच पारियों में अब तक 51.80 की औसत से 259 रन बना चुके हैं. कोहली ने 2018 में अब तक कुल 1322 रन बनाए हैं.