नई दिल्ली. साल 2016… मैदान सिडनी का था और विरोधी टीम ऑस्ट्रेलिया थी. ये वो मुकाबला था जिसमें शतक जडकर मनीष पांडे रातोंरात स्टार बने थे. सिडनी की तेज और उछाल भरी पिच पर पांडे ने शतक नंबर 4 पर बल्लेबाजी करते हुए और भारी दबाव को झेलते हुए जड़ा था. यही वजह थी कि अगले दिन उन्हें हर ओर से वाहवाही मिलने लगी. कईयों ने टीम इंडिया के नंबर 4 के संकट को तभी खत्म मान लिया था. लेकिन, ऐसा नहीं हुआ. नंबर 4 पर शतक जड़ने के बावजूद मनीष पांडे टीम से ड्रॉप हो गए.

WC 2015 के बाद 3 शतकवीर

वर्ल्ड कप 2015 के बाद से अब तक 3 भारतीय बल्लेबाजों ने नंबर 4 पर शतक जड़ा, जिनमें मनीष पांडे के अलावा युवराज सिंह भी हैं और अब अंबाती रायडू तीसरे बल्लेबाज बने हैं. मुंबई वनडे में रायडू के शतक के साथ ही टीम इंडिया की नंबर 4 की वैकेंसी भी फुल हो गई. कप्तान विराट कोहली ने मुंबई वनडे के खत्म होने के बाद कहा कि उनके नंबर 4 बल्लेबाज अंबाती रायडू ही रहेंगे. अगले वर्ल्ड कप तक उन्हें उनका पूरा समर्थन हासिल है.

मुंबई वनडे की ‘तारीख’ बनी टीम इंडिया की जीत की वजह, लगातार तीसरे साल हुआ ये धमाल

पांडे से रायडू कि किस्मत अच्छी

कहते हैं क्रिकेट में मेहनत के साथ साथ किस्मत भी मायने रखती है. 2 साल पहले सिडनी में चमकने वाले मनीष पांडे अभी-अभी मुंबई में छाए अंबाती रायडू जितने किस्मत वाले नहीं रहे. मुंबई वनडे में वेस्टइंडीज के खिलाफ अंबाती रायडू ने नंबर 4 पर बल्लेबाजी करते हुए शानदार सैंकड़ा जड़ा . ये उनके वनडे करियर का तीसरा शतक होने के साथ साथ नंबर 4 की जगह सील करने वाला भी साबित हुआ.

मिडिल ऑर्डर में रायडू का शानदार खेल

रायडू की किस्मत को चमकाने में उनकी मेहनत का कितना योगदान रहा, जिससे विराट का दिल उनपर आया, अब जरा वो समझिए. मुकाबले के दौरान बीच के ओवरों में रायडू लगातार स्ट्राइक बदलते रहे. रायडू ने अपने शतक के पहले 50 रन 5.83 की रन रेट से बनाए, जबकि अर्धशतक को शतक में बदलने के दौरान उन्होंने अपना रन रेट 10.34 का रखा. यानी, रायडू ने पहले खुद को पांव जमाने का मौका दिया और फिर बल्ला चलाया.

मुंबई वनडे: भारत के लिए वर्ल्ड कप में नंबर चार पर खेलेगा यह खिलाड़ी, विराट कोहली ने दिया इशारा

फिटनेस पर रायडू ने किया काम

वैसे नंबर 4 की स्पॉट के लिए रायडू ने अपने फिटनेस पर भी खूब काम किया. बता दें कि रायडू को यो-यो टेस्ट में फेल होने की वजह से इंग्लैंड दौरे की टीम में जगह नहीं मिली थी. इसके बाद उन्होंने न सिर्फ खुद को फिट किया बल्कि विराट की नंबर 4 की टेंशन भी दूर करने में कामयाब रहे.