Virat Kohli Completed 10,000 ODI Runs at number 3: भारतीय टीम की रन मशीन विराट कोहली (Virat Kohli) जब भी बल्ला थामकर मैदान पर उतरते हैं तो कोई न कोई नया रिकॉर्ड बनाकर ही लौटते हैं. इंग्लैंड के खिलाफ पुणे में खेले जा रहे दूसरे वनडे में भी भारतीय कप्तान 66 रन बनाकर आउट हुए. लेकिन इस दौरान कोहली ने दो नायाब रिकॉर्ड अपने नाम कर लिए. कोहली इस मैच में भी नंबर 3 पर बल्लेबाजी के उतरे थे. यहां जैसे ही उन्होंने अपनी पारी का 20वां रन पूरा किया, वह इस पॉजिशन पर 10000 रन बनाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बन गए. इस नंबर पर अब वह सर्वाधिक रन बनाने वाले वह दुनिया के दूसरे बल्लेबाज हैं. इस फेहरिस्त में उनसे आगे ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पॉन्टिंग (12662) रन हैं.Also Read - ब्रेट ली ने कही बड़ी बात, क्रिकेट से ब्रेक ले सकते हैं Virat Kohli!

वैसे वनडे फॉर्मेट में भारत की ओर से विराट के अलावा 4 और खिलाड़ियों ने 10 हजार से ज्यादा रन बनाए हैं. लेकिन सचिन तेंदुलकर (18426), सौरव गांगुली (11363) ने अपना ज्यादातर करियर बतौर ओपनर के रूप में बिताया, जबकि पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ (10889) और एमएस धोनी (10773) निचले क्रम पर ही ज्यादा खेले. विराट के नाम अभी तक कुल (12162*) रन हो गए हैं, जिसमें से 10046* रन उन्होंने नंबर 3 पर खेलत हुए बनाए हैं. Also Read - फाइनल से चूकी आरसीबी, संजय मांजरेकर ने उठाए विराट कोहली पर सवाल

विराट की अर्धशतकीय पारी के दौरान ये आंकड़े- अब नंबर 3 पर 10046 रन

इसके अलावा विराट ने लगातार चौथे वनडे मैच में फिफ्टी जमाई है. इंग्लैंड के खिलाफ उन्होंने पहले वनडे मैच में भी 56 रन की बेहतरीन पारी खेली थी, जबकि इससे पहले ऑस्ट्रेलिया में खेले दो वनडे में भारतीय कप्तान ने 89 और 63 रन की पारी खेली थी. यह उनके करियर में 7वां मौका है, जब उन्होंने लगातार 4 बार 50 या इससे अधिक रन बनाए हों. हालांकि विराट एक बार फिर अपने शतक से चूक गए. Also Read - कोच कुमार संगकारा के प्रेरणादायक शब्दों ने मुझे प्रेरित किया : जॉस बटलर

हर बार की तरह इस बार भी उनके पास शतक जमाने का बेहतरीन मौका था. लेकिन वह आदिल रशीद की एक गेंद को कट करने के प्रयास में विकेटकीपर जोस बटलर को अपना कैच देकर 66 के निजी स्कोर पर आउट हुए. बता दें 3 मैचों की इस सीरीज में भारतीय टीम 1-0 से आगे है. उसने सीरीज के पहले मैच में इंग्लैंड को 66 रन से मात दी थी. दूसरे वनडे में एक बार फिर इंग्लैंड टॉस जीतकर पहले फील्डिंग का फैसला किया है.