नई दिल्ली.टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले गए तीसरे वनडे मैच में हार का ठीकरा बल्लेबाजों के सिर फोड़ते हुए कहा है कि साझेदारियां न होने की वजह से टीम को हार का सामना करना पड़ा. वेस्टइंडीज ने भारत के सामने 284 रनों का लक्ष्य रखा था. जवाब में भारत 47.4 ओवरों में 240 रनों पर ही ढेर हो गई. भारत की ओर से सिर्फ कोहली ने 107 रनों की पारी खेली बाकी कोई और बल्लेबाज विकेट पर टिक नहीं सका. Also Read - बिस्तर पर जाने से पहले विराट-अनुष्का ने की मस्ती, एक दूसरे को गालों पर किया ये काम

विराट के निशाने पर अब पाकिस्तान का रिकॉर्ड, ऐसा करने वाले बने एशिया के सबसे तेज बल्लेबाज Also Read - BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली के साथ बैठक करेंगे PM नरेंद्र मोदी; कोहली-तेंदुलकर के शामिल होने की उम्मीद

मैच के बाद कोहली ने कहा, “हमने अच्छी बल्लेबाजी की, लेकिन पहले 35 ओवरों में विकेट में कुछ नहीं था. दूसरे हाफ में यह मुश्किल हो गई थी. हमें 250-260 तक वेस्टइंडीज को रोकना चाहिए था, लेकिन फिर भी गेंदबाजी अच्छी थी. आखिरी 10 ओवरों में हम थोड़े ज्यादा रन दे गए. हम साझेदारियां नहीं कर सके जो बेहद कम होता है. वेस्टइंडीज की टीम जीत की हकदार थी.” Also Read - विराट कोहली ने चुना अपना पसंदीदा फॉर्मेट, कहा-टेस्ट क्रिकेट ने मुझे बेहतर इंसान बनाया

पुणे वनडे के बाद थम नहीं रहा विराट कोहली के नाम का शोर, एक शतक से दिए कई रिकॉर्ड तोड़

कोहली ने कहा कि टीम अपनी रणनीति को ठीक से लागू नहीं कर पाई. कोहली ने टीम संयोजन पर कहा कि केदार जाधव और हार्दिक पांड्या के रहने से टीम के पास एक गेंदबाजी विकल्प होता है. बकौल कोहली, “जब हार्दिक और केदार दोनों खेलते हैं तो हमें एक अतिरिक्त गेंदबाजी विकल्प मिलता है.  केदार अगले मैच से हमारे साथ जुड़ेंगे तो हमें संतुलन प्रदान करेंगे. हमें एक गेंदबाज बाहर करना होगा, लेकिन हमारे पास छह गेंदबाजों के विकल्प मौजूद हैं.”

पुणे वनडे में ‘चांद’ की तरह चमकने के बाद विराट ने तुड़वाया अनुष्का शर्मा के करवाचौथ का व्रत

कोहली इस मैच में लगातार तीन वनडे मैचों में शतक जमाने वाले भारत के पहले और दुनिया के 10वें बल्लेबाज बन गए हैं. हालांकि उन्होंने अपनी पारी पर कुछ नहीं कहा. भारतीय कप्तान ने कहा, “मैं अपनी बल्लेबाजी के बारे में बात नहीं करना चाहता. हमें उन चीजों पर ध्यान देना चाहिए जो हमने आज अच्छे से नहीं कीं.” इस जीत के साथ ही पांच मैचों की वनडे सीरीज 1-1 से बराबर हो गई है.