नई दिल्ली. IPL में आज रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच मुकाबला है. ये मुकाबला RCB के लिए जितना एड़ी-चोटी की जोर लगाने वाला है उतना ही हैदराबाद के लिए टेंशन फ्री है. टेंशन फ्री इसलिए क्योंकि वो अगर इस मुकाबले में हार भी जाते हैं तो भी उनके पास गंवाने या खोने को कुछ भी नहीं है. लेकिन, अगर बैंगलोर का खेमां हार गया तो उसे IPL-11 से बोड़िया-बिस्तर बांधना पड़ सकता है. यही वजह है कि चीकू यानी कि विराट कोहली चौकन्ना हैं और वो हर हाल में आज सनराइजर्स को रौंदना चाहते हैं. Also Read - टीम इंडिया ने World Cup 2019 में खुद को कैसे पहुंचाया नुकसान, टॉम मूडी ने गिनाई कमियां

Also Read - अय्यर ने विराट को खिलाया मां के हाथ का डोसा, चहल ने रखी 1400 KM दूर बिरयानी भिजवाने की डिमांड

सनराइजर्स को हराने की तमन्ना Also Read - मौजूदा भारतीय टेस्ट टीम में से इन 5 खिलाड़ियों को अपनी टीम में रखना पसंद करेंगे सौरव गांगुली, बताई वजह

RCB के कप्तान विराट कोहली ने सनराइजर्स को हराने का ढोल तभी पिट दिया था जब उन्होंने पंजाब को पस्त किया था. पंजाब के खिलाफ मैच के बाद पोस्ट मैच प्रजेन्टेशन में विराट ने कहा था, ‘ हम जानते हैं कि सनराइजर्स के पास खोने को कुछ नहीं है. लेकिन हमें भी मुकाबला अपने गढ़ खेलना है, जहां की पिच के कोने-कोने से हम वाकिफ है. ऐसे में उम्मीद करेंगे कि हम जीतें.’

जीत के लिए रिपोर्ट कार्ड करना होगा दुरुस्त

बीच मैदान दो क्रिकेटरों ने निभाया 'दोस्ताना', IPL में पहली बार दिखा ऐसा नजारा

बीच मैदान दो क्रिकेटरों ने निभाया 'दोस्ताना', IPL में पहली बार दिखा ऐसा नजारा

हालांकि, सनराइजर्स को हराने के अपने मंसूबे को अमलीजामा पहनाने में विराट के सामने मुश्किल है इस टीम के खिलाफ उसका खराब रिपोर्टकार्ड. RCB और हैदराबाद के बीच IPL में अब तक 11 मुकाबले हुए हैं, जिनमें 7 में बाजी सनराइजर्स ने मारी है जबकि सिर्फ 4 में ही RCB को जीत नसीब हुई है. यानी, विराट एंड कंपनी को आज अगर जीत पक्की करनी है तो इस टीम के खिलाफ अपने पुराने रिकॉर्ड को दुरुस्त करते हुए ऐसा करना होगा.

गेंद और बल्ले का जोरदार मुकाबला

अगर दोनों टीमों की ताकत की बात करें तो बल्लेबाजी में RCB के पास जहां विराट और एबी जैसे दो बड़े मैच विनर हैं तो वहीं पार्थिव पटेल का फॉर्म भी टीम के लिए टशन का काम कर रहा है. दूसरी ओर सनराइजर्स की बल्लेबाजी सिर्फ और सिर्फ कप्तान केन विलियम्सन और शिखर धवन के इर्द-गिर्द नाचती दिख रही है.

विराट का 'क्लोन' बना 'किंग ऑफ रनचेज', IPL के 'तुर्रम खां' छूटे पीछे

विराट का 'क्लोन' बना 'किंग ऑफ रनचेज', IPL के 'तुर्रम खां' छूटे पीछे

गेंदबाजी में सनराइजर्स का कोई मुकाबला नहीं है, जिसका इस टीम को प्ले ऑफ का टिकट दिलाने में सबसे बड़ा योगदान रहा है. इस सीजन 12 में से 7 मैचों में सनराइजर्स 5 गेंदबाजों के साथ मैदान पर उतरी है. उधर RCB के खेमें की गेंदबाजी उमेश यादव की रफ्तार और युजवेंद्र चहल की फिरकी पर ज्यादा निर्भर है.