विराट कोहली सीरीज़ दर सीरीज़ नए रिकॉर्ड अपने नाम कर रहे हैं। मोहाली में भी न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ कोहली के बल्ले से एक सधी हुई पारी आई और उन्होंने अपने वनडे करियर का 26वां शतक बनाया। विराट कोहली की शानदार शतक की बदौलत मोहाली वनडे सात विकेट से जीत लिया है। विराट ने 134 गेंदों में 154 रन बनाकर भारत को पांच मैंचों की सीरीज में 2-1 की बढ़त दिला दी है।Also Read - IPL 2022: KL Rahul बने आईपीएल इतिहास के 'सबसे महंगे खिलाड़ी'

Also Read - IND vs SA- लगातार 2 मैच हारकर वनडे सीरीज हारा भारत, ये रहीं कमजोर कड़ियां

बता दे कि मौजूदा दौर के अंतरराष्ट्रीय बल्लेबाज़ों में शतकों के मामले में कोहली सबसे ऊपर हैं। वनडे में सचिन तेंदुलकर ने सबसे ज़्यादा 49 शतक बनाए हैं लेकिन वो क्रिकेट को अलविदा कह चुके हैं। लिस्ट में सबसे दूसरे नंबर पर 375 वनडे में 13704 रन और 30 शतकों के साथ ऑस्ट्रेलियाई पूर्व क्रिकेटर रिकी पॉन्टिंग हैं। तीसरे नंबर पर 445 वनडे में श्रीलंका के सनथ जयसूर्या के 28 शतक हैं। यह भी पढ़े-गौतम गंभीर ने विराट कोहली से ‘झगड़े’ पर 3 साल बाद आखिर तोड़ी चुप्पी Also Read - IND vs SA: दो खेमों में बंट चुकी है भारतीय टीम, दानिश कानेरिया बोले- विराट खेमा नहीं कर रहा बात

भारत ने 10 गेंद शेष रहते ही 285 का लक्ष्य हासिल कर लिया। उनकी इस पारी पर जीत के बाद टीम इंडिया के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने पुरस्कार समारोह में कहा, क्रिकेट में टॉप लेवल क्या होता है, ये कहना बेहद मुश्किल है। लेकिन कोहली ने भारत को गर्व से भर दिया है।

इतना ही नहीं लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत की जीत में भी कोहली का योगदान ख़ास रहा है। लक्ष्य का पीछा करते हुए कोहली ने भारत के लिए 16 शतक बनाए हैं जिसमें से 14 मैच टीम इंडिया जीती है. लक्ष्य का पीछा करते हुए सचिन ने 17 शतक बनाए हैं और इसमें से 14 मैच टीम इंडिया जीती है. यहां भी कोहली ने सचिन की बराबरी कर ली है। कोहली ने 62 मैच में 14 विजयी शतक लगाया तो सचिन ने 127 मैच में 14 विजयी शतक बनाए. तीसरे नंबर पर श्रीलंका के तिलकरत्ने दिलशान हैं। दिलशान ने 75 वनडे में 9 मैचों में लक्ष्य का पीछा करते हुए श्रीलंका को जीत दिलाई है। यह भी पढ़े-कोहली, धोनी और रहाणे की ‘नई सोच’, जर्सी के पीछे मां के नाम, देखे वीडियो

वैसे 2016 कोहली के लिए शानदार रहा है। टेस्ट में कोहली ने 200 और 211 रन की दो पारी खेली। वनडे में 117, 110 और 154* रन की पारी खेली है तो घरेलू T20 मैच में इस साल 4 शतक बनाए। विराट की इसमें 100*, 108*, 109 और 113 रन की पारी शामिल है।

इसके अलावा मोहाली में एक और रिकॉर्ड कोहली के नाम हुआ। कोहली वनडे क्रिकेट में घरेलू ज़मीन पर खेलते हुए सबसे तेज़ 3000 रन पूरे करने वाले अंतरराष्ट्रीय बल्लेबाज़ बने। कोहली ने घरेलू ज़मीन पर 3000 रन का आंकड़ा पार करने के लिए 63 मैच लिए। कोहली ने सौरव गांगुली के 70 मैचों में इतने ही रन बनाने का रिकॉर्ड तोड़ा। लिस्ट में तीसरे नंबर दक्षिण अफ़्रीका के एबी डिविलियर्स हैं। डिविलियर्स ने अपने घरेलू मैदान पर 3000 रन पूरे करने के लिए 71 वनडे लिए हैं।

गौरतलब है कि 285 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की खराब शुरुआत हुई। भारत ने तीसरे ओवर की आखिरी ओवर में अंजिक्य रहाणे के रुप में पहला विकेट गंवा दिया है। लगातार दूसरा चौका लगाने की कोशिश में रहाणे कवर पर हेनरी की गेंद पर सेंटनर को कैच दे बैठे। रहाणे ने 10 गेंद पर 5 रन बनाए। रोहित शर्मा 13 रन पर साउदी की गेंद पर पगबाधा हो गए। इसके बाद आज चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए कप्तान महेंद्र सिंह धोनी उतरे। कोहली के साथ मिलकर धोनी ने भारत की जीत एक तरह से सुनिश्चित कर दी।