नई दिल्ली. विराट की कमान वाली RCB से जीत मानों रूठ सी गई है. पहले चेन्नई और अब मुंबई इंडियंस, दोनों टीमों के खिलाफ इस सीजन उनका सूरतेहाल नहीं बदला. दो मुकाबले, दो अलग-अलग मैदानों पर जरूर हुए पर RCB के लिए नतीजा नहीं बदला. सीजन के दूसरे मैच में मुंबई इंडियंस के खिलाफ विराट एंड कंपनी को 6 रन से हार का सामना करना पड़ा. हालांकि, इस मुकाबले का नतीजा हटकर भी हो सकता था, मतलब ये कि जीत RCB की भी हो सकती थी अगर खराब अंपायरिंग की बीच मैदान सरासर नुमाईश नहीं होती. दरअसल, हुआ ये कि मैच की आखिरी गेंद, जिसके बाद चैलेंजर्स की हार पर मुहर लगी, वो नो बॉल थी. पर, अंपायर ने इसे नहीं देखा. अगर देखा होता तो RCB को फ्री हिट मिलती और मैच का नतीजा उनके फेवर में हो सकता था. यही वजह है कि RCB के कप्तान विराट कोहली मैच के बाद खराब अंपायरिंग पर भड़कते दिखे. उन्होंने साफ लहजे में कहा कि अंपायर्स को आखें खुली रखनी चाहिए.

अंपायर पर उतरा विराट का गुस्सा

विराट कोहली ने कहा, ” हम IPL लेवल पर खेल रहे हैं न कि क्लब क्रिकेट खेल रहे हैं. आखिरी गेंद पर जो हुआ वो नहीं होना चाहिए था. अंपायर को अपनी आंखें खुली रखनी चाहिए. वो बॉल एक इंच के मार्जिन से नो बॉल थी. उसकी वजह से गेम पूरी तरह से बदल गया.”

अंपायर को नो बॉल नहीं दिखी

बता दें कि मुकाबले की आखिरी गेंद पर RCB को जीत के लिए 7 रन बनाने थे. लसिथ मलिंगा गेंदबाजी पर थे और सामने बल्लेबाज थे युवा शिवम दुबे. मलिंगा ने गेंद डाली, जो कि नो बॉल थी, पर अंपायर एस रवि को ये नहीं दिखी. इस गेंद पर शिवम दुबे ने शॉट मारा पर 1 रन से ज्यादा नहीं बना सके. नतीजा ये हुआ कि मुंबई इंडियंस को 1 रन से जीत मिल गई.