नई दिल्ली : टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली जब मैदान पर उतरते हैं तब फैन्स कई बार अंदाजा लगा लेते हैं कि मैच में क्या होने वाला है. विराट ने अपने शानदार प्रदर्शन की बदौलत भारत ही नहीं बल्कि भारत के बाहर भी लोगों को अपना दीवाना बनाया है. कोहली ने वनडे क्रिकेट में 37 शतक जड़े हैं और हर पारी के बाद फैन्स का उत्साह दो गुना देखने को मिलता है. हाल ही में कोहली ने वेस्टइंडीज के खिलाफ विशाखापट्टनम में शतक जड़कर वनडे क्रिकेट में 10000 रन पूरे किए. कोहली ने इस उपलब्धि के बाद कहा कि मैं देश के लिए खेलकर किसी पर एहसान नहीं कर रहा हूं.

दरअसल कोहली ने बीसीसीआई टीवी के लिए एक वीडियो में कहा कि उनका ध्यान हमेशा टीम की जरूरत पर रहता है. कोहली ने सबसे तेज 10000 वनडे रन बनाने के बाद कहा, मैं 10 साल खेलने के बाद ऐसा महसूस नहीं करता कि मैं किसी विशिष्ट चीज का हकदार हूं. मैं देश के लिए खेलकर किसी पर एहसान नहीं कर रहा हूं.

उन्होंने कहा, मैं कभी सोचा नहीं था कि एक दिन अपने वनडे इंटरनेशनल करियर में इस मुकाम तक पहुंचूगा. लेकिन यह संभव हुआ. इसके लिए मैं भगवान का शुक्रगुजार हूं. ये बातें ज्यादा मायने नहीं रखती हैं. मैं पिछले 10 साल से क्रिकेट खेल रहा हूं और यह मेरे लिए सबसे ज्यादा प्रिय है. यह पल मेरे लिए बेहद खास है. मैं चाहता हूं कि आगे भी अच्छा स्कोर करता रहूं. मैं खुश हूं.

WorldRecord: कोहली ने वनडे में बनाए सबसे तेज 10 हजार रन, सचिन-गांगुली समेत कई दिग्गज पीछे छूटे

उन्होंने कहा, मैंने कभी सोचा नहीं था कि मैं इस मुकाम पर पहुंचूंगा. अगर आप खेल के दौरान सही बातों पर ध्यान देंगे तो वो मददगार साबित होंगी. मेरा काम रन स्कोर करना है. इसलिए मेरा ध्यान हमेशा टीम की जरूरत पर रहता है. मैं परिस्थितियों को ध्यान में रखकर खेलता हूं. अगर मैं एक ओवर में छह बार डाइव लगा रहा हूं तो इसका ये मतलब नहीं कि मैं खेल के प्रति समर्पण दिखा रहा हूं. ऐसा मैं टीम के लिए करता हूं.

देखें वीडियो :

देवधर ट्रॉफी में शानदार प्रदर्शन के बाद बोले शुभमन गिल, टीम इंडिया से खेलने के लिए तैयार हूं

गौरतलब है कि कोहली ने वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज के दूसरे मैच में शतकीय पारी खेली. इस मुकाबले में उन्होंने सबसे तेज 10000 वनडे रन बनाने का रिकॉर्ड बनाया. कोहली ने इस मामले में पूर्व महान खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर, महेन्द्र सिंह धोनी और रिकी पोटिंग जैसे कई दिग्गज खिलाड़ी को पीछे छोड़ा. इसके अलावा कोहली ने और भी कई रिकॉर्ड बनाए. कोहली ने अब तक खेली 205 वनडे पारियों में 37 शतक और 48 अर्धशतक जड़े हैं.