भारतीय टीम के बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौर (Vikram Rathour) ने कहा कि कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) के पास किसी भी समय खेल को बदलने की क्षमता है। राठौर ने कहा, “वो एक तरह के खिलाड़ी नहीं हैं। वो जब चाहें मैच का रूख बदल सकते हैं। वो हर फॉर्मेट को अलग तरह से खेलते हैं और ये उनके सबसे मजबूत पहलूओं में से एक है।” Also Read - अय्यर ने विराट को खिलाया मां के हाथ का डोसा, चहल ने रखी 1400 KM दूर बिरयानी भिजवाने की डिमांड

पूर्व क्रिकेटर ने ये भी कहा है कि विराट कोहली की ताकत है कि वो हर फॉर्मेट के मुताबिक खेल सकते हैं और उनमें सबसे अच्छी बात है खेल के प्रति उनका समर्पण। Also Read - IPL की उपयोगिता को लेकर इस विदेशी खिलाड़ी ने दिया बड़ा बयान, कहा-इसके बगैर क्रिकेट कैलेंडर है अधूरा!

राठौर ने स्पोटर्सकीड़ा से कहा, “मेरे हिसाब से विराट में सबसे अच्छी बात खेल को लेकर उनका समर्पण है। वो विश्व के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी बनना चाहते हैं और इसके लिए कड़ी मेहनत करते हैं। वो काफी प्रयास करते हैं और मैंने जितने क्रिकेटर देखे हैं उनमें से वो सबसे ज्यादा मेहनती हैं। इसके अलावा मुझे लगता है कि उनकी स्थिति के साथ तालमेल बिठाने की क्षमता काफी अच्छी है।” Also Read - न्यूजीलैंड क्रिकेट ने झाड़ा पल्ला-कहा, हमने कभी IPL 2020 मेजबानी की पेशकश नहीं की

राठौर ने अपनी बात को सिद्ध करने के लिए आईपीएल-2016 का उदाहरण दिया जब कोहली ने लीग में 973 रन बनाए थे और अकेले की दम पर रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर को फाइनल में ले गए थे।

उन्होंने कहा, “सबसे बेहतरीन उदाहरण जो मैंने देखा है वो आईपीएल-2016 में जहां उन्होंने चार शतक और 40 तकरीबन छक्के मारे थे। वह शानदार फॉर्म में चल रहे थे और इसके बाद हमें वेस्टइंडीज का दौरा करना था। दो महीने आईपीएल में खेलने के बाद वह वेस्टइंडीज गए और पहले ही मैच में दोहरा शतक जमाया वो भी बिना किसी छक्के के।”