नई दिल्ली : विराट कोहली जिस तरह से इंटरनेशनल क्रिकेट में खेल रहे हैं, उस तरह से वो इतिहास के सबसे चुनिंदा सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों की लिस्ट में शामिल हो जायेंगे. उन्होंने कई पूर्व दिग्गज खिलाड़ियों को रिकॉर्ड को तोड़कर खुद को मील का पत्थर साबित किया है. दिलचस्प बात यह है कि कोहली का यह सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा. वो लगातार शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं और हर सीरीज में कुछ न कुछ नया कर रहे हैं. इस फेहरिस्त में उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पर्थ में शतक जड़कर खुद को एक बार फिर सर्वश्रेष्ठ साबित किया. Also Read - India vs Australia: पहले वनडे से पहले Virat Kohli ने दिखाया दम, खूब उड़ा रहे चौके-छक्के, देखें VIDEO

Also Read - Aus vs Ind, 1st ODI: नंगे पैर मैदान पर घेरा बनाकर नस्लवाद के खिलाफ विरोध दर्ज कराएगी ऑस्ट्रेलियाई टीम

दरअसल भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पर्थ में टेस्ट सीरीज का दूसरा मैच खेला जा रहा है. मैच के तीसरे दिन कोहली ने 217 गेंदों का सामना करते हुए 11 चौकों की मदद से 100 रन बनाए. कोहली का यह टेस्ट क्रिकेट में 25वां शतक है. उन्होंने 127 पारियां खेलते हुए यह कारनामा किया. इस तरह उन्होंने सचिन तेंदुलकर, सुनील गावस्कर, मैथ्यू हेडन को पीछे छोड़ दिया. हालांकि वो डॉन ब्रैडमैन से पीछे रह गए. सबसे कम टेस्ट पारियों में 25 टेस्ट शतक लगाने का रिकॉर्ड ब्रैडमैन के नाम दर्ज है. उन्होंने महज 68 पारियों में यह मुकाम हासिल कर लिया था. Also Read - India vs Australia: आइसोलेशन पूरा होने के बाद नए होटल में पहुंची टीम इंडिया

पर्थ में विराट कोहली का शानदार रिकॉर्ड, पोटिंग-संगकारा को पीछे छोड़ा

कोहली सबसे कम पारियों में 25 टेस्ट शतक लगाने के मामले में दूसरे स्थान पर हैं. उन्होंने 127 पारियों में यह मुकाम हासिल किया. जब कि सचिन 130 पारियों के साथ तीसरे स्थान पर हैं. गावस्कर ने 138 पारियां खेलकर 25 शतक बनाए थे. जब कि हेडन ने 139 पारियों में यह उपलब्धि हासिल की थी.

यह कोहली इस साल 11वां शतक है. वो एक कैलेंडर ईयर में 11 या इससे ज्यादा शतक जड़ने वाले तीसरे खिलाड़ी बन गए हैं. उन्होंने साल 2017 में भी 11 इंटरनेशनल शतक जड़े थे. कोहली ने पर्थ में शतक जड़कर अपने रिकॉर्ड के साथ-साथ रिकी पोटिंग की बराबरी भी कर ली. पोटिंग ने भी 2003 में 11 शतक लगाए थे. जब कि सचिन तेंदुलकर ने 1998 में 12 शतक जड़े. सचिन इस लिस्ट में पहले स्थान पर हैं.