नई दिल्ली. आपने सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में सुनी. उसके बाद एयर स्ट्राइक भी सुनी. लेकिन, हम जिसकी बात करने जा रहे हैं वो विराट स्ट्राइक है. पहली दो स्ट्राइक भारतीय सेना ने पाकिस्तान पर की लेकिन विराट स्ट्राइक ऑस्ट्रेलिया पर हुआ, जिसे अंजाम दिया कैप्टन कोहली ने. क्रिकेट के 3 फॉर्मेट में से 2 के कोहली इस वक्त नंबर वन बल्लेबाज हैं और वो नंबर वन क्यों हैं इसकी झलक उन्होंने नागपुर में दिखा दी. नागपुर की मुश्किल पिच पर, जो बढ़ते मुकाबले के साथ बल्लेबाजी के लिए धीमी होती चली जा रही थी, जब एक छोर से भारतीय विकेट चटक रहे थे तो विराट ने सिर्फ दूसरे छोर को संभाला बल्कि रनों की गति को भी बनाए रखा.

‘विराट’ शतक के किस्से अनेक

विराट कोहली ने 120 गेंदों का सामना करते हुए 10 चौके के साथ 116 रन बनाए. ये वनडे क्रिकेट में विराट के बल्ले से निकला 40वां शतक है. इंटरनेशनल क्रिकेट में 65वां शतक है. वनडे में बतौर कप्तान 18वां शतक है जबकि इंटरनेशनल क्रिकेट में बतौर कप्तान 36वां शतक है. इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ये विराट कोहली का 7वां शतक है.

ऑस्ट्रेलिया पर भारी विराट

भारत में कोहली पिछली 5 पारियों में जमाए अपने अर्धशतक को शतक की शक्ल देने में कामयाब रहे हैं. यानि, नागपुर वनडे लगातार छठा मौका है जब उन्होंने अपनी सरजमीं पर जमाए अर्धशतक को शतक में बदला है. नागपुर वनडे मिलाकर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले बल्लेबाजी करते हुए पिछली 6 पारियों को देखें तो विराट के बल्ले से निकला ये दूसरा शतक है. 2 शतकों के अलावा वो 3 अर्धशतक जमाएं हैं, जिसमें 2 नाइन्टीज के स्कोर हैं .