कोरोना काल में जहां हर कोई अपने घर में ही फंसे रहने को मजबूर है. वहीं, भारत कप्‍तान विराट कोहली (Virat Kohli) इसके बावजूद भी कमजोर नहीं पड़े है. विराट कोहली (Virat Kohli) का कहना है कि वो घंटो प्रैक्टिस करने की जगह खुद को मानसिक रूप से मजबूत करने में विश्‍वास रखते हैं.Also Read - Happy Republic Day 2022: गणतंत्र दिवस के मौके पर खेल जगत ने दी बधाई, Virat Kohli बोले- भारतीय होने पर गर्व

स्‍टार स्‍पोर्ट्स के प्रोग्राम क्रिकेट कनेक्‍टेड का हिस्‍सा बने विराट कोहली (Virat Kohli) ने कहा, “मैं मानसिक रूप से तरोताजा हूं और इससे मुझे आत्मविश्वास मिलता है कि कोरोनावायरस के बाद जब भी क्रिकेट बहाल होगा, मैं उसी जगह से शुरू कर सकता हूं जहां मैंने छोड़ा था. Also Read - दूसरी बार कोरोना पॉजिटिव हुए Chiranjeevi, बोले- जो मेरे टच में आए वो टेस्ट कराएं

विराट कोहली ने कहा,‘‘शुक्र है कि मेरे घर पर जिम है और मैं अभ्यास कर पा रहा हूं. मैं उनमें से हूं जिनका फोकस मानसिक पहलू पर रहता है. मैं नेट पर घंटो अभ्यास करने पर फोकस नहीं करता हूं.’’ Also Read - Omicron: त्वचा पर 21 घंटे तक जिंदा रहता है कोरोना का ओमीक्रोन वेरिएंट, हैंड हाइजीन सबसे जरूरी

कोहली ने कहा ,‘‘मुझे पता है कि एक बार मानसिक रूप से तरोताजा होने पर मैं उसी जगह से शुरू कर सकूंगा जहां छोड़ा था. शुरू में यह कठिन था लेकिन चीजों को दूसरे नजरिये से देखने लगो और समय के साथ साथ आपको पता चलता है कि यह आपके काबू में नहीं है.’’

विराट कोहली (Virat Kohli) ने कहा ,‘‘आप ऐसे में अपनी मानसिक स्थिति पर ही नियंत्रण कर सकते हैं. अच्छी बात यही है कि मैं अभ्यास कर पा रहा हूं . वह हालांकि मेरे लिये पहले भी समस्या नहीं थी. मैं फिट हूं और अभ्यास कर रहा हूं.’’