नई दिल्ली : भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने माना कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 12वें संस्करण में यह निश्चित नहीं है कि भारतीय खिलाड़ियों को कितने मैच खेलने हैं. कोहली आईपीएल के आगामी सीजन में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की कप्तानी करेंगे और उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय खिलाड़ियों को अपने कार्यभार को चतुराई से संभालना होगा.

कोहली ने कहा, “आप पहले से सुनिश्चित नहीं कर सकते कि किसी खिलाड़ी को कितने मैच खेलने हैं. अगर मैं 10,12 या 15 मैच खेलने में सफल हूं तो जरूरी नहीं कि दूसरा खिलाड़ी इतने मुकाबले खेल पाएगा. मेरा शरीर कुछ मैच खेल सकता और मैं इस बार में चतुराई से सोचना चाहिए और आराम करना चाहिए.”

कोहली ने कहा, “किसी अन्य खिलाड़ी का शरीर मेरे से अधिक या कम मैच खेलने में सक्षम हो सकता है. यह व्यक्तिगत चीज है. हर खिलाड़ी विश्व कप में खेलना चाहता है इसलिए सभी को समझदारी से काम करना होगा क्योंकि आप इतना बड़े टूर्नामेंट को छोड़ना नहीं चाहते.”

IPL 2019: खिलाड़ियों को अच्छा प्रदर्शन करने में काम आयेगी अश्विन की ये सलाह

आरसीबी के आईपीएल खिताब न जीत पाने पर कोहली ने कहा कि पिछले कई संस्करण में खराब निर्णय लिए गए जिसका खामियाजा टीम को भुगतना पड़ा. कोहली ने कहा, “सही निर्णय नहीं लेने से ही असफलता मिलती है. अगर मैं यहां बैठूं और कहूं कि हमारी किस्मत खराब थी, तो यह सही नहीं होगा. आप अपना भाग्य खुद बनाते हैं. यदि आप खराब निर्णय लेते हैं और दूसरी टीम अच्छे फैसले लेती है, तो आप हार जाएंगे. जब हमने बड़े मैच खेले, तब भी हमारा निर्णय सही नहीं थे.”

उन्होंने कहा, “इस वर्ष हमने टीम में एक संस्कृति बनाने पर ध्यान दिया है जो किसी भी टीम के लिए सबसे महत्वपूर्ण है. एक चीज जो किसी भी टीम के लिए जरूरी होती है वह है उत्कृष्टता के लिए हमेशा प्रयास करना और अपनी मंजिल को हासिल करने के लिए हमेशा प्रतिबद्ध रहना.”