किंग्सटन (जमैका): विराट कोहली टेस्ट क्रिकेट में सबसे सफल भारतीय कप्तान बनने से अब बस एक जीत दूर हैं. कोहली अगर शुक्रवार से यहां वेस्टइंडीज के खिलाफ शुरू होने जा रहे दूसरे और अंतिम टेस्ट मैच में जीत दर्ज करने में सफल होते हैं तो वह पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (27 टेस्ट मैच) के रिकॉर्ड को तोड़ देंगे और सबसे ज्यादा टेस्ट मैच जीतने वाले भारतीय कप्तान बन जाएंगे.

कोहली ने पहला टेस्ट मैच 318 रनों से जीतने के बाद बतौर भारतीय कप्तान सबसे ज्यादा टेस्ट मैच जीतने के धोनी के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली थी. धोनी और कोहली बतौर भारतीय कप्तान अब तक 27-27 टेस्ट मैच जीत चुके हैं. धोनी का बतौर कप्तान जीत प्रतिशत 45 प्रतिशत रहा है. इसमें उनकी कप्तानी में भारत ने 27 मैच जीते हैं, 18 हारे हैं और 15 ड्रॉ रहे हैं. दूसरी तरफ कोहली का जीत का प्रतिशत 55.3 का रहा है. कोहली की कप्तानी में भारत ने अब तक 47 टेस्ट मैच खेले हैं, जिसमें 27 जीते हैं, 10 हारे हैं और इतने ही ड्रॉ रहे हैं.

राहुल द्रविड़ नहीं रहे इंडिया-ए और U-19 टीम के मुख्य कोच, अब इन्हें मिली नई जिम्मेदारी

भारतीय रन मशीन कोहली पहले ही विदेशी धरती पर सबसे ज्यादा टेस्ट मैच जीतने के पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली के रिकॉर्ड तोड़ चुके हैं. वेस्टइंडीज के खिलाफ पिछले टेस्ट मैच में मिली जीत, घर के बाहर बतौर कप्तान कोहली की 12वीं जीत थी जबकि गांगुली ने घर के बाहर बतौर कप्तान 11 मैचों में जीत दर्ज की थी. गांगुली ने जहां 28 मैचों में यह उपलब्धि हासिल की थी वहीं कोहली ने 26 मैचों में कारनामा किया है. धोनी के 2014 में टेस्ट से संन्यास लेने के बाद कोहली को टेस्ट टीम की कप्तानी मिली थी. कोहली की कप्तानी में भारत ने पिछले साल आस्ट्रेलिया में पहली बार टेस्ट सीरीज 3-1 से जीती थी.