विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम पिछले तीन सालों से आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में नंबर एक पर कब्जा जमाए हुए है। 2015 में टेस्ट टीम की कमान संभालने वाले कोहली ने अक्टूबल 2016 में भारत को शीर्ष पर पहुंचाया और इसके बाद रैंकिंग में कई उतार चढ़ाव आने के बावजूद टीम इंडिया ने अपनी बादशाहत बनाए रखी। भारतीय टीम लॉर्ड्स में होने वाले आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप के ऐतिहासिक फाइनल में पहुंचने की प्रबल दावेदार है। Also Read - India vs England: अक्षर की तारीफ करते-करते ये गुजरात को लेकर क्या बोल गए विराट कोहली! क्यों आई रविंद्र जडेजा की याद

36 महीनों से ज्यादा समय तक टेस्ट रैंकिंग में नंबर एक पर बने रहने के साथ ही कोहली ने महेंद्र सिंह धोनी (2009 से 2011 तक नंबर एक टेस्ट टीम) का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया। लेकिन कोहली न्यूजीलैंड के साथ नंबर एक के खिताब को बांटने के लिए तैयार हैं। Also Read - 2 दिन में टेस्ट मैच जीतकर भारत ने रचा इतिहास, इन 5 कारणों के चलते विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप का फाइनल खेलेगी टीम इंडिया

न्यूजीलैंड के साथ टेस्ट सीरीज के शुरू होने से पहले बुधवार वेलिंगटन में स्थित भारतीय दूतावास पहुंचने पर भारतीय कप्तान ने दोनों देशों के बीच आपसी संबंधों और सम्मान की बात की। कोहली ने कहा, “भारतीय उच्चायोग आना हमेशा खास रहता है क्योंकि हमें यहां भारत से आए कई लोगों से मिलने का मौका मिलता है।” Also Read - Ind vs Eng: इंग्लैंड को हरा MS Dhoni से आगे निकले कोहली, मोटेरा के मैदान पर टूटे कई रिकॉर्ड

गौतम गंभीर का सपना पूरा होने के करीब, यमुना स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स में जल्द खेले जाएंगे फर्स्ट क्लास मैच

उन्होंने कहा, “हमने दोनों देशों के बीच आपसी संबंधों को लेकर बातें सुनी हैं और मैं इससे ज्यादा सहमत नहीं हो सकता। मुझे लगता है कि अगर हमें टेस्ट रैंकिंग में किसी टीम के साथ अपना स्थान शेयर करना पड़े तो वो न्यूजीलैंड की ही टीम होगी। हम उस स्टेज पर हैं, जहां हर टीम हमें हराना चाहती है और न्यूजीलैंड भी इससे अलग नहीं है।”