आधुनिक क्रिकेट में भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli), इंग्लैंड के टेस्ट कप्तान जो रूट (Joe Root), ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान सटीव स्मिथ (Steve Smith) और न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन (Kane Williamson) को बेहतरीन बल्लेबाजों में शुमार किया जाता है.Also Read - BCCI की नई कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट होगी जारी, क्या Ajinkya Rahane और Cheteshwar Pujara बचा पाएंगे अपना ग्रेड

लेकिन रूट ने कोहली को सभी प्ररूपों का ‘संपूर्ण बल्लेबाज’ मानते हुए कहा  है कि सीमित ओवरों के प्रारूप में रनों का पीछा करने की उनकी क्षमता ‘असाधारण’ है.  रूट ने ‘ईएसपीएनक्रिकइंफो’ से कहा, ‘विराट संभवत: तीनों प्रारूपों में से सबसे पूर्ण खिलाड़ी हैं. सीमित ओवरों के प्रारूप में रनों का पीछा करते समय पारी को गति देने और आखिर तक आउट नहीं होने के मामले में वह असाधारण है. ’ Also Read - IND vs SA, दूसरे वनडे में मिडल ऑर्डर बैटिंग नहीं बॉलिंग में यह बदलाव करे टीम इंडिया: Dinesh Karthik का सुझाव

उन्होंने कहा, ‘वह संपूर्ण खिलाड़ी की तरह खेलते हैं ,आप यह नहीं कह सकते कि वह तेज या स्पिन के गेंदबाजी के खिलाफ असरदार नहीं है. ’ Also Read - Virat Kohli की प्रेस कॉन्फ्रेंस से खुश नहीं थे Sourav Ganguly, देना चाहते थे 'कारण बताओ' नोटिस, लेकिन...

इंग्लैंड दौरे पर 2014 में विफल रहने के बाद कोहली ने 2018 में शानदार वापसी करते हुए सभी प्रारूपों में 894 रन बनाए थे.  रूट ने कहा, ‘वह इंग्लैंड के अपने पहले दौरे पर संघर्ष कर रहे थे लेकिन वापसी करने पर उन्होंने काफी रन बनाये.  उन्होंने दुनिया के हर हिस्से में रन बनाये है.  भारतीय टीम का पूरा भार उनके कंधे पर है. ’

इस 29 साल के खिलाड़ी ने कहा कि वह दूसरे खिलाड़ियों से खुद की तुलना नहीं करना चाहते है लेकिन इन तीनों के खेलने के तरीके पर नजर रखते हैं.

उन्होंने कहा, ‘मैं कोहली, विलियमसन या स्मिथ से खुद की तुलना नहीं करता हूं.  लेकिन मैं उनकी बल्लेबाजी देखता हूं कि हर प्रारूप में वह किस तरह से पारी को आगे बढ़ते हैं.’