भारतीय टेस्‍ट टीम में सलामी बल्‍लेबाज की भूमिका निभाने वाले मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) महज नौ मैचों के अपने छोटे से टेस्‍ट करियर में दो दोहरे शतक लगा चुके हैं. न्‍यूजीलैंड के खिलाफ दो मैचों की टेस्‍ट सीरीज से पहले उन्‍होंने बताया कि कैसे कप्‍तान विराट कोहली (Virat Kohli) टीम में बड़ी पारियां खेलने के लिए उन्‍हें प्रेरित करते हैं. Also Read - एक साथ बायो बबल में इंट्री करेंगे कोहली, रोहित, रहाणे; इस तारीख को स्क्वाड से जुड़ेंगे ऋद्धिमान साहा

मयंक अग्रवाल ने बताया कि पिछले साल विशाखापत्‍तनम टेस्‍ट में जब मैं 150 रन पर खेल रहा था तो दूसरे छोर पर विराट कोहली मेरे साथ थे. विराट मेरे पास आए और उन्‍होंने कहा, ‘तुम्‍हें पता है कि इस तरह से यह दोबारा नहीं होने वाला है. तुमने 200 से कम रन बनाए तो नहीं चलेगा. यह सुनिश्चित करो कि तुम केवल अपने लिए ही नहीं बल्कि टीम के लिए खेल रहे हो. टीम को इस वक्‍त बड़े स्‍कोर की जरूरत है. यह जरूरी है कि तुम टिककर हमारी मदद करो और तेजी से रन बनाओ.” Also Read - टेस्ट क्रिकेट में पाकिस्तान ने 39 बार किया है यह कारनामा, भारत के पास पहला मौका

पढ़ें:- IND vs NZXI: शमी की तेजी के सामने पस्‍त हुए कीवी बल्‍लेबाज, बुमराह-सैनी-उमेश का भी चला जादू Also Read - WTC 2021: इंग्‍लैंड में मौसम बदलते ही पिच भी अलग तरीके से बर्ताव करती है, नील वेगनर ने बताई क्‍या है उनकी तैयारी ?

मयंक ने आगे कहा कि बांग्‍लादेश के खिलाफ जब मैंने दोहरा शतक बनाया था तब भी विराट कोहली ने मुझे यही कहा था कि 200 से कम रन बनाए तो काम नहीं चलेगा.मयंक ने कहा कि मैं जब भी 150 रन बनाता हूं तो उनकी तरफ से एक तरह का रिमाइंडर रहता है कि हम पहले इस बारे में बात कर चुके हैं और मुझे अब बड़ी पारी खेलनी है. “तुम अच्‍छी स्थिति में हो. तुम रन बना सकते हो और टीम को तुम्‍हारी जरूरत है.”

पढ़ें:- हम नंबर-1 टेस्‍ट टीम की तरह ही न्‍यूजीलैंड के खिलाफ मैदान में उतरेंगे: रवि शास्‍त्री

मयंक अग्रवाल ने 2018 के अंत में ऑस्‍ट्रेलिया दौरे के दौरान अपना टेस्‍ट डेब्‍यू किया था. वो अब तक टेस्‍ट क्रिकेट में खेल नौ मैचों में 67.07 की औसत से 872 रन बना चुके हैं. जिसमें दो दोहरे शतक, एक शतक और तीन अर्धशतक शामिल हैं.