मौजूदा समय में वनडे, टेस्ट, टी20 तीनों फॉर्मेट में भारत की कप्तानी कर रहे दिग्गज बल्लेबाज विराट कोहली (Virat Kohli) ने अपना करियर महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की कप्तानी में शुरू किया था। कोहली का मानना है कि धोनी का उनकी कप्तानी पर काफी प्रभाव पड़ा है। कोहली ने माना कि उन्होंने सपने में भी कप्तान बनने के बारे में नहीं सोचा था। Also Read - National Doctor's Day 2020: विराट-रोहित ने कोरोना वॉरियर्स के लिए लिखा प्‍यारा सा संदेश

भारतीय स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) के साथ वीडियो चैट के दौरान कोहली ने कहा, “मैं हमेशा एमएस को सलाह देता रहता था। वो कई चीजों से इंकार कर देते थे लेकिन चर्चा भी करते थे। मुझे लगता है कि उन्हें मुझपर काफी भरोसा था और मेरे कप्तान बनने के पीछे उनके मुझपर ध्यान देने का बड़ा हाथ रहा।” Also Read - क्यों 'किंग' कोहली का कायल है ये कंगारू कप्तान, जानिए वजह

भारतीय कप्तान ने आगे कहा, “ऐसा नहीं था कि वो चयनकर्ताओं के पास गया और कहा ‘इसे कप्तान बना दो’। उसके ऊपर सही शख्स को चुनने और फिर उसे धीरे धीरे विकसित होते देखने की जिम्मेदारी थी। मुझे लगता है कि उन्होंने इसमें बड़ी भूमिका निभाई और आपको 8-9 सालों में ये विश्वास बनाना होता है।” Also Read - आकाश चोपड़ा की सर्वकालिक IPL-11 टीम के कप्तान बने MS Dhoni, विंडीज धुरंधर क्रिस गेल को जगह नहीं

साल 2014 में ऑस्ट्रेलिया दौरे के बीच में धोनी के टेस्ट फॉर्मेट से संन्यास लेने के बाद कोहली को टेस्ट टीम की कमान मिली। वहीं 2017 में धोनी ने सीमित ओवर फॉर्मेट टीम की कप्तानी इस्तीफा दे दिया, जिसके बाद कोहली तीनों फॉर्मेट में भारत के कप्तान बने।