नई दिल्ली. कहते हैं बेस्ट दो, बेस्ट लो. विराट कोहली से भी मेलबर्न टेस्ट में ऐसे ही बेस्ट प्रदर्शन की उम्मीद है ताकि वो सचिन तेंदुलकर के एक साल में सबसे ज्यादा टेस्ट शतकों के भारतीय रिकॉर्ड की बराबरी कर सकें. टेस्ट क्रिकेट में सचिन ने एक साल में सबसे ज्यादा 7 टेस्ट शतक लगाएं है. ये कमाल मास्टर ब्लास्टर ने साल 2010 में किया था.

टीम इंडिया ने बदल डाले ओपनर्स, मेलबर्न टेस्ट के लिए भारत और ऑस्ट्रेलिया ने किया प्लेइंग XI का ऐलान

क्या सचिन का कमाल दोहराएंगे विराट?

अब 8 साल बाद विराट कोहली से सचिन के उसी कमाल को दोहराने की उम्मीद है. हालांकि, विराट के पास ये मौका पिछले साल यानी 2017 में भी था लेकिन तब वो चूक गए थे. साल 2017 में विराट ने 5 टेस्ट शतक जमाए थे. लेकिन, इस बार एक और मौका उनका इंतजार कर रहा है ताकि वो सचिन का रिक़ॉर्ड तोड़ सकें.

विराट कोहली ने राहुल और विजय पर गिराई गाज, बॉक्सिंग डे टेस्ट में नई ओपनिंग जोड़ी बचाएगी ‘लाज’

मेलबर्न की दोनों पारियों में जमाने होंगे शतक

साल 2018 में अब तक विराट कोहली कुल 5 टेस्ट शतक लगा चुके हैं. अब अगर वो अपना बेस्ट देते हुए मेलबर्न टेस्ट की दोनों पारियों में शतक जमा देते हैं तो वो सचिन तेंदुलकर के भारतीय रिकॉर्ड की बराबरी कर लेंगे. अगर विराट सिर्फ एक ही शतक जमाते हैं तो वो सचिन का रिकॉर्ड तो नहीं तोड़ सकेंगे पर भारतीय बल्लेबाजों की लिस्ट में उनके बाद दूसरे नंबर पर अपनी मौजूदगी जरूर दर्ज कर लेंगे.

क्रिसमस पर मयंक अग्रवाल के लिए विराट कोहली बने ‘सैंटा’, मेलबर्न में दिया मनचाहा उपहार

सचिन का रिकॉर्ड तोड़ने का आखिरी मौका

विराट ने अब तक अपने टेस्ट करियर में एक साल में 2 बार 5 टेस्ट शतक, 2 बार 4-4 शतक जबकि 1 बार 3 शतक जमाए हैं. मेलबर्न टेस्ट टीम इंडिया का साल 2018 में आखिरी टेस्ट हैं और विराट कोहली के लिए सचिन के 7 शतकों के भारतीय रिकॉर्ड को तोड़ने का आखिरी मौका भी. अब इस मौके को कप्तान कोहली भुनाते हैं या एक बार फिर से गंवाते हैं, इसके लिए साल के आखिरी दिन तक का इंतजार करना होगा.