नई दिल्ली : भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि अगर टेस्ट श्रृंखला से पहले आदर्श स्थितियां और अच्छी विरोधी टीम नहीं दी जाती है तो अभ्यास मैचों के कोई मायने नहीं है. भारत दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड से लगातार दो श्रृंखलायें हार गया जिसके बाद सुनील गावस्कर समेत पूर्व खिलाड़ियों ने अभ्यास मैचों की संख्या कम रहने पर सवाल उठाये हैं.

सोनी लिव पर माइकल होल्डिंग को दिये इंटरव्यू में कोहली ने कहा, ‘‘लोग अभ्यास मैचों की बात करते हैं लेकिन अहम सवाल यह है कि ये मैच कहां हो रहे हैं और विरोधी टीम का गेंदबाजी आक्रमण कैसा है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘यदि टेस्ट श्रृंखला से पहले जरूरी तैयारी नहीं मिल पाती है तो इन मैचों के कोई मायने नहीं है. अच्छी विरोधी टीम सामने होने पर ही अभ्यास मैच उपयोगी होते हैं.’’

टीम इंडिया को छोड़ अब इस टीम से खेलेंगे मुरली विजय

गौरतलब है कि भारत और इंग्लैंड के बीच टेस्ट सीरीज खेली जा रही है. इसमें भारत 1-3 से पीछे चल रहा है. इस सीरीज में टीम इंडिया के बल्लेबाज अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए, जिसकी वजह से हार का सामना करना पड़ा. हालांकि कप्तान कोहली ने कुछ पारियों में शानदार प्रदर्शन किया. वो इस सीरीज में  अब तक सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं. कोहली ने अब तक 9 पारियों में 593 रन बनाए हैं.

टीम इंडिया के खिलाफ सबसे ज्यादा टेस्ट खेलने के बाद अब कुक करेंगे एक और रिकॉर्ड ‘कैच’

बता दें कि इस टेस्ट सीरीज का पहला मैच इंग्लैंड ने 31 रन से जीता. वहीं दूसरा मुकाबला लंदन के लॉर्ड्स में खेला गया, जिसे पारी और 159 रन से जीता. इसके बाद तीसरे मुकाबले में भारत ने वापसी करते हुए 203 रन से जीत हासिल की. यह मैच नॉटिंघम में खेला गया. चौथा मैच में फिर से भारतीय टीम को हार का सामना करना पड़ा. यह मैच इंग्लैंड ने 60 रन से जीता. अब पांचवां टेस्ट मुकाबला खेला जा रहा है.