ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज मार्नस लाबुशेन ने टेस्ट क्रिकेट में हमवतन स्टीव स्मिथ को टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली के ऊपर तरजीह दी है. हालांकि उनका मानना है कि सीमित ओवरों में भारतीय कप्तान का कोई सानी नहीं है. वर्तमान में टेस्ट रैंकिंग में स्मिथ पहले और कोहली दूसरे नंबर पर काबिज हैं. लाबुशेन का मानना है कि स्मिथ की अलग-अलग परिस्थितियों में निरंतरता के साथ बल्लेबाजी करने की क्षमता उन्हें अलग साबित करती है. Also Read - विराट कोहली की मौजूदगी में बिना दबाव के बल्लेबाजी कर सकता हूं: चेतेश्वर पुजारा

इंडिया टुडे ने लाबुशेन के हवाले से लिखा, ‘मुझे लगता है कि स्मिथ ने बताया है कि वह टेस्ट क्रिकेट में हर परिस्थिति में रास्ता निकाल सकते हैं. इसलिए यही बात उन्हें टेस्ट में नंबर-1 खिलाड़ी बनाती है. उन्होंने भारत और इंग्लैंड में रन बनाए हैं. ऑस्ट्रेलिया में वे निरंतरता के साथ रन बना ही रहे हैं. इसलिए उनके लिए यह शायद मायने ही नहीं रखता कि वह कहां खेल रहे हैं और किन परिस्थिति में खेल रहे हैं, वह रन बनाने का रास्ता निकाल लेते हैं. विराट ने भी यही किया है लेकिन टेस्ट क्रिकेट में मैं स्मिथ के साथ जाऊंगा.’ Also Read - भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच Boxing Day Test मेलबर्न की जगह एडिलेड में हो सकता है, ये है वजह

‘कोहली लिमिटेड ओवर में शानदार हैं’ Also Read - विराट कोहली-स्टीव स्मिथ के बराबर पहुंच गए हैं बाबर आजम : नासिर हुसैन

लाबुशेन को इंग्लैंड के खिलाफ प्रस्तावित वनडे सीरीज के लिए 26 सदस्यीय टीम में चुना गया है. बकौल लाबुशेन, ‘विराट सीमित ओवरों की क्रिकेट में शानदार हैं. वह जिस तरह से पारी खत्म करते हैं, वह जिस तरह से मैच खत्म करते हैं, जिस तरह से रनों के लक्ष्य का पीछा करते हैं. मुझे लगता है कि मैंने उनसे काफी कुछ सीखा है.’

विराट ने 27 टेस्ट शतक लगाए हैं 

विराट ने 86 टेस्ट मैचों में कुल 27 शतक लगाए हैं जबकि स्मिथ ने 73 टेस्ट में 27 शतक जड़े हैं. कोहली का टेस्ट औसत 53.62 का है जबकि  स्मिथ का टेस्ट औसत 62.84 है.

लाबुशेन के लिए पिछला साल बेहतरीन रहा था 

मार्नस लाबुशेन के लिए पिछला साल 2019 इंटरनेशनल क्रिकेट के लिए बेहतरीन रहा. उन्होंने कुल 896 रन बनाए  जिसमें एक दोहरा शतक, दो बार 150 प्लस का स्कोर और एक शतक के साथ 3 अर्धशतक शामिल है। उन्होंने 8 पारियों में ये रन जुटाए थे.