नई दिल्ली : विराट कोहली ने शुक्रवार को कहा है कि एबी डिविलियर्स की गैरमौजूदगी में पूरी पारी के दौरान बल्लेबाजी करने की जिम्मेदारी उनकी थी जिस पर रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम का यह कप्तान खरा भी उतरा. कोहली ने शुक्रवार को इंडियन प्रीमियर लीग के मौजूदा सत्र में अपनी पहली शतकीय पारी से कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ टीम को 10 रन से जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई. उन्होंने 58 गेंद की पारी में 100 रन बनाये जिससे बैंगलोर को नौ मैचों में दूसरी जीत नसीब हुई.

मैच से पहले बैंगलोर के स्टार खिलाड़ी डिविलियर्स पूरी तरह से फिट नहीं थे और कोहली ने उन्हें विश्राम देना सही समझा. कोहली ने पुरस्कार वितरण समारोह के बाद कहा, ‘‘डिविलियर्स की गैर मौजूदगी में टीम के वरिष्ठ खिलाड़ी के तौर पर पूरी पारी के दौरान मेरा क्रीज पर बने रहना जरूरी था. मैच में नहीं खेलने को लेकर डिविलियर्स निराश थे और मैंने उन्हें कहा था कि अगर हम जीते तो मैं तुम्हे झप्पी दूंगा.’’

अजिंक्य रहाणे को लगा झटका, राजस्थान ने कप्तानी से हटाया

जीत के लिए 214 रन के बड़े लक्ष्य के सामने केकेआर ने धीमी शुरुआत की जो आखिर में उसे महंगी पड़ी. नितीश राणा (46 गेंदों पर नाबाद 85 रन) और आंद्रे रसेल (25 गेंदों पर 65 रन) ने अंतिम छह ओवरों में 102 रन जोड़े लेकिन तब भी टीम पांच विकेट पर 203 रन तक ही पहुंच पायी. कोलकाता को अंतिम ओवर में जीत के लिए 24 रन चाहिए थे जिसका मोईन अली ने सफलता पूर्वक बचाव किया.

कोहली ने 19वें ओवर में मार्कस स्टोइनिस की गेंदबाजी की तारीफ करते हुए कहा, ‘‘ऐसी परिस्थितियों में घबराने की कोई जरूरत नहीं थी, आपको गेंदबाजों को छूट देनी होगी कि वे क्या करना चाहते है. स्टोइनिस और फिर अंत में मोईन ने अच्छी गेंदबाजी की. मुझे लगता है कि स्टोइनिस ने जिस तरह से दो-तीन डॉट गेंदें फेंकी, वह बहुत महत्वपूर्ण था.’’