केरल में गर्भवती हथिनी की मौत पर लोगों के साथ-साथ खिलाड़ी भी गुस्से में हैं. खिलाड़ियों की मांग है कि दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए.भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली सहित कई खिलाड़ियों ने गुस्सा और हैरानी व्यक्त की है. केरल के मलप्पुरम जिले में लोगों ने गर्भवती हथिनी को पटाखों से भरा अनानास खिला दिया. हथिनी के मुंह में पटाखे फट जाने से उसकी मौत हो गई. कप्तान कोहली इस घटना से बहुत आहत और गुस्से में हैं. उन्होंने ट्वीट कर इस घटना की कड़ी निंदा की है.Also Read - India vs England: पहले टेस्ट मैच के पहले दिन कुछ ऐसा होगा नॉटिंघम में मौसम का मिजाज

कोहली ने ऑफिशियल टिवटर हैंडल पर लिखा, ‘केरल की घटना को जानकर काफी निराश और चकित हूं. मैं विनती करता हूं कि जानवरों का प्यार से देखभाल करें और ऐसे कायरतापूर्ण कृत्य बंद होने चाहिए.’ Also Read - IND vs ENG: पहले टेस्ट में प्लेइंग XI का हिस्सा होंगे Shardul Thakur, कप्तान Virat Kohli ने दिए संकेत


कोहली ने हथिनी और उसके पेट में पल रहे बच्चे की तस्वीर कार्टून के जरिए ट्विटर पर पोस्ट की है. अनुभवी भारतीय ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने इस घटना पर अपनी नाराजगी जाहिर की है. Also Read - चेतेश्वर पुजारा को अकेला छोड़ दें, खिलाड़ियों को खेल की खामियों को खुद परखना होता है: कोहली


अनुभवी भारतीय महिला बैडमिंटन स्टार साइस् नेहवाल ने कहा कि यह बहुत दुखद है. उन्होंने लिखा, ‘यह जानकर बहुत दुख हुआ.’

भारतीय फुटबॉल टीम के कप्तान सुनील छेत्री ने ऐसे लोगों को राक्षस कहते हुए कहा, ‘वह एक बेगुनाह गर्भवती हथिनी थी. यह उन लोगों के बारे में बताता है जो उन्होंने किया था. राक्षसों, मुझे बहुत उम्मीद है कि लोगों को इसकी कीमत चुकानी होगी. हम बार-बार प्रकृति को विफल करते रहते हैं. मुझे बताएं कि हम कैसे अधिक विकसित प्रजातियां हैं?

उमेश यादव ने कहा, ‘एक गर्भवती हथिनी को पटाखों से भरा अनानास खिला दिया. ऐसा केवल राक्षस ही कर सकता है. दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए.’

‘रॉकेट साइंस नहीं’

ओलंपियन महिला निशानेबाज हीना सिद्धू ने लिखा, ‘रॉकेट साइंस नहीं. यह हाथी भगवान है और यह सिर्फ बूढ़ा हाथी है. ठीक उसी तरह जैसे.. यह एक अमीर व्यापारी है और यह एक साधारण प्रवासी मजदूर या किसान है. हम सभी जानते हैं कि किसकी पूजा करनी है और किसका दुरुपयोग करना है.’

सजा की मांग उठाई 

हरभजन सिंह ने कहा, ‘केरल में एक प्रेग्नेंट हथिनी को अनानास में पटाखे भरकर खिला दिए गए. उन्हें सजा मिलनी चाहिए. एक निर्दोष गर्भवती हथिनी के साथ ऐसी क्रूरता कैसे की जा सकती है.’

अधिकारियों ने कहा कि केरल वन विभाग ने 15 साल की गर्भवती जंगली हथिनी की मौत के लिए जिम्मेदार लोगों को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान शुरू कर दिया है.