बेंगलुरु: भारतीय कप्तान विराट कोहली को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच के दौरान तेज गेंदबाज ब्यूरॉन हेंड्रिक्स से कंधा टकराने के लिए आधिकारिक चेतावनी दी गई और उनके खाते में एक ‘डिमैरिट’अंक जोड़ा गया. बता दें कि यह घटना रविवार को भारतीय पारी के पांचवें ओवर में घटी जब कोहली ने रन लेते समय गेंदबाज ब्यूरॉन हेंड्रिक्स से अपना कंधा टकराया था. कोहली को एक और डिमैरिट अंक मिलने पर एक टेस्ट या दो वनडे या दो टी20 मैचों का प्रतिबंध झेलना पड़ सकता है

कोहली को बेंगलुरु में रविवार को खेले गए मैच में आईसीसी आचार संहिता के लेवल 1 के उल्लंघन का दोषी पाया गया. आईसीसी ने बयान में कहा, कोहली को खिलाड़ियों और सहयोगी स्टॉफ के लिए आईसीसी आचार संहिता के अनुच्छेद 2.12 के उल्लंघन का दोषी पाया गया. यह अनुच्छेद किसी अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान खिलाड़ी, खिलाड़ी के सहयोगी स्टाफ, अंपायर, मैच रेफरी या किसी अन्य व्यक्ति (दर्शक सहित) के साथ अनुचित शारीरिक संपर्क से संबंधित है.

यह घटना रविवार को भारतीय पारी के पांचवें ओवर में घटी जब कोहली ने रन लेते समय गेंदबाज ब्यूरॉन हेंड्रिक्स से अपना कंधा टकराया था.

आईसीसी के अनुसार कोहली के खाते में एक डिमैरिट अंक भी जोड़ा गया है. यह सितंबर 2016 में संशोधित संहिता के लागू किए जाने के बाद कोहली का तीसरा अपराध है. कोहली के अब तीन ‘डिमैरिट’ अंक हो गए हैं. उन्हें दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 15 जनवरी 2018 को प्रिटोरिया टेस्ट और अफगानिस्तान के खिलाफ 22 जून 2019 को विश्व कप मैच के दौरान भी एक. एक डिमैरिटअंक मिला था.

कोहली को एक और डिमैरिट अंक मिलने पर एक टेस्ट या दो वनडे या दो टी20 मैचों का प्रतिबंध झेलना पड़ सकता है. आईसीसी के नियमों के अनुसार 24 महीने के अंदर चार या इससे अधिक डिमैरिट अंक मिलने पर वे निलंबन अंकों में बदल जाते हैं.

बयान में कहा गया है कि भारतीय कप्तान ने अपनी गलती और मैच रेफरी रिची रिचर्डसन की सजा को स्वीकार कर लिया था और इसलिए औपचारिक सुनवाई की जरूरत नहीं पड़ी. मैदानी अंपायर नितिन मेनन और सी के नंदन, तीसरे अंपायर अनिल चौधरी और चौथे अंपायर सी शम्सुद्दीन ने उन पर आरोप लगाए थे.

लेवल 1 के उल्लंघन पर न्यूनतम सजा आधिकारिक फटकार और अधिकतम खिलाड़ी की मैच फीस का 50 प्रतिशत जुर्माना और एक या दो डिमैरिट अंक दिया जाना शामिल है.