लंदन। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड के प्रस्तावित 100 गेंद फॉर्मेट क्रिकेट की सख्त आलोचना की है. उन्होंने इसे क्रिकेट की गुणवत्ता के लिए नुकसानदायक बताया. विराट का मानना है कि व्यावसायिक पहलू के कारण क्रिकेट की गुणवत्ता पर असर पड़ रहा है और इसके साथ ही उन्होंने इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड द्वारा प्रस्तावित 100 गेंद के प्रारूप की भी निंदा की. तीनों प्रारूप में भारतीय टीम के कप्तान कोहली ने कहा, मैं पहले ही बहुत, मैं यह नहीं कहूंगा कि परेशान हूं लेकिन कई बार इतना ज्यादा क्रिकेट लगातार खेलने से परेशान हो ही जाते हैं. मुझे लगता है कि व्यावसायिक पहलू का असर क्रिकेट की गुणवत्ता पर पड़ रहा है जिससे मैं दुखी हूं. Also Read - Covid-19 Lockdown: 'पांड्या ब्रदर्स' ने घर को बनाया स्टेडियम! कर रहे हैं जमकर प्रैक्टिस, देखें VIDEO

ECB की हो रही है निंदा Also Read - डोनेशन की राशि को लेकर सवाल पूछे जाने पर भड़का पूर्व भारतीय क्रिकेटर, दे डाली ये नसीहत

इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड 100 गेंद का नया प्रारूप शुरू करने जा रहा है जिसकी सभी निंदा कर रहे हैं. कोहली ने कहा कि वह एक और प्रारूप का हिस्सा नहीं बनेंगे. जो लोग इससे जुड़े हैं, उनके लिए यह काफी रोमांचक है लेकिन मैं एक और प्रारूप नहीं खेल सकता. Also Read - COVID-19: अक्षय कुमार के 25 करोड़ रुपये दान दिए जाने पर हार्दिक पांड्या ने किया ये कमेेंट

इंस्टाग्राम पर अपनी एक पोस्ट से विराट कोहली को होती है कितनी कमाई, जानिए

कोहली ने कहा कि मैं किसी भी नए प्रारूप के लिए प्रयोग का जरिया नहीं बनना चाहता. मैं विश्व एकादश का हिस्सा नहीं बनना चाहता जो 100 गेंद का प्रारूप लांच करेगा. उन्होंने कहा, मुझे आईपीएल खेलना पसंद है. मैं बिग बैश लीग भी देखता हूं क्योंकि आपके भीतर इससे प्रतिस्पर्धी भावना बढ़ती है. मुझे लीग से गुरेज नहीं लेकिन प्रयोग गंवारा नहीं है.

मुझे इंग्लिंश काउंटी पसंद

चोट के कारण वह सर्रे के लिये काउंटी क्रिकेट नहीं खेल सके हालांकि उन्होंने कहा कि वह इंग्लैंड में प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेलना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि काउंटी क्रिकेट मुझे बहुत पसंद है. इस बार नहीं खेल सका लेकिन भविष्य में जरूर खेलूंगा.

(भाषा इनपुट)