नई दिल्ली. सिडनी T20 में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सबसे बड़ा फर्क विराट कोहली ने पैदा किया, जिन्होंने अपनी बल्लेबाजी से मैच की बाजी पलट दी. इस बात से क्रिकेट के जानकार भी इत्तेफाक रखते हैं. Also Read - विराट नहीं तो रोहित शर्मा को करनी चाहिए सभी फॉर्मेट में कप्तानी: माइकल क्लार्क

सिडनी में लगातार दूसरा अर्धशतक

विराट कोहली ने 41 गेंदों पर नाबाद 61 रन बनाए. ये मौजूदा सीरीज में उनके बल्ले से निकला पहला अर्धशतक था तो वहीं T20 इंटरनेशनल में उनके बल्ले से निकला रिकॉर्ड 19वां अर्धशतक. ये सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर विराट के बल्ले से निकला लगातार दूसरा T20 अर्धशतक था. दरअसल, इससे पहले साल 2016 में सिडनी में खेले आखिरी T20 में भी विराट ने 50 रन की पारी खेली थी. मतलब ये कि सिडनी में अब तक खेले 2 T20 मुकाबलों में विराट 2 अर्धशतक जमा चुके हैं.

टीम इंडिया ने ब्रिसबेन का बदला सिडनी में लिया, T20 सीरीज में ऑस्ट्रेलिया से हिसाब बराबर

मैक्कुलम, गुप्टिल को छोड़ा पीछे

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अर्धशतक जमाकर विराट कोहली ने अब T20 इंटरनेशनल में रनों की रेस में न्य़ूजीलैंड के ब्रेंडन मैक्कुलम को भी पीछे छोड़ दिया है. उन्होंने मैक्कुलम के के 2140 रनों के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ा है. वहीं इंटरनेशनल T20 में किसी एक विरोधी के खिलाफ सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया है. विराट ने इस मामले में न्यूजीलैंड के ही मार्टिन गुप्टिल के रिकॉर्ड को तोड़ा है, जिन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ 463 रन बनाए हैं.

विराट- द रियल चेजमास्टर

वर्ल्ड क्रिकेट में विराट कोहली को चेजमास्टर कहा जाता है और ऐसा क्यों है उसे जरा इस आंकड़े से समझिए. रन चेज करते हुए इंटरनेशनल T20 में विराट अब तक 14 बार नाबाद लौटे हैं और अब तक सभी में भारत को जीत मिली है.