वेस्‍टइंडीज के दिग्‍गज क्रिकेटर माइकल होल्डिंग (Michael Holding) का मानना है कि भारतीय कप्‍तान विराट कोहली (Virat Kohli) को मैदान पर अपने रवैये में बदलाव करने की सख्‍त जरूरत है. उन्‍होंने सलाह दी कि विराट को अपनी टोन को कम करने की सख्‍त जरूरत है.Also Read - शुबमन गिल की अर्धशतकीय पारी के बावजूद ड्रॉ पर खत्म हुआ भारत vs लीसेस्टरशायर अभ्यास मैच

इंडियन एक्‍सप्रेस से बातचीत के दौरान माइकल होल्डिंग (Michael Holding) ने कहा, “विराट कोहली (Virat Kohli) एक ऐसा खिलाड़ी है जो अपने दिल को स्‍लीव पर हर वक्‍त पहने रखता है. वो एक ऐसा खिलाड़ी है जिसे आप हर वक्‍त पहचान सकते हैं कि वो अंदर से कैसा महसूस कर रहे हैं. मुझे लगता है कि वो मैदान पर रहते हुए प्रत्‍येक घटना के साथ भावनाओं में बह जाता है. Also Read - रोहित को हुआ कोरोना, पैदा हुआ नेतृत्‍व संकट, इस अनुभवी बल्‍लेबाज को सौंपी जा सकती है कमान

“इस संबंध में विराट विंडीज के विव रिचर्ड्स की तरह है. वो भी कभी-कभी फील्‍ड में रहते हुए खुद को कुछ ज्‍यादा ही व्‍यक्‍त करते थे. हालांकि ये दोनों ही क्रिकेटर्स के व्‍यक्‍तित्‍व का हिस्‍सा है. वो अपने व्‍यवहार को थोड़ा कम कर सकते थे.” Also Read - भारत को बड़ा झटका, टेस्ट मैच से पहले Rohit Sharma कोरोना पॉजिटिव, अब खेल सकेंगे टेस्ट?

होल्डिंग (Michael Holding) ने कहा, “जहां तक विराट कोहली (Virat Kohli)  की कप्‍तानी का सवाल है. मैं बस इतना ही कहूंगा कि उन्‍हें अपनी टोन को (उग्र व्‍यवहार) को थोड़ा कम करने की जरूरत है ताकि उनकी टीम थोड़ा रिलेक्‍स कर सके.”

माइकल होल्डिंग (Michael Holding) ने आज की टीम और उनके समय की भारतीय टीम के बीच भी तुलना की. उन्‍होंने कहा, “दोनों दौर एक दम अलग हैं. उस वक्‍त केवल एक या दो भारतीय खिलाड़ी ही फिट हुआ करते थे. आज पूरी टीम फिट है. उनकी खेलने की स्किल में ज्‍यादा बदलाव नहीं आया है लेकिन अब खिलाड़ी ज्‍यादा एथलेटिक हैं. उनकी फिटनेस भी काफी शानदार स्‍तर की नजर आती है. खेलने के रवैये में बदलाव के साथ आपकी कला भारतीय क्रिकेट को नए स्‍तर पर ले जाती है.”