नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बॉक्सिंग डे टेस्ट से पहले टीम इंडिया के सामने सबसे गंभीर सवाल उसकी ओपनिंग जोड़ी को लेकर था. क्रिकेट के जानकार ये तो मान रहे थे कि केएल राहुल या मुरली विजय में से कोई एक मेलबर्न की पिच पर नहीं उतरेगा लेकिन विराट कोहली दोनों को ही बाहर का रास्ता दिखाकर चौंका देंगे, इसका अंदाजा किसी को हीं था. भारतीय थिंक टैंक ने बड़ा दांव खेलते हुए विजय और राहुल दोनों को बॉक्सिंग डे टेस्ट की प्लेइंग XI से बाहर कर दिया है जबकि उनकी जगह पर युवा मयंक अग्रवाल और हनुमा विहारी के कंधे पर ओपनिंग की बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है.

टीम इंडिया ने बदल डाले ओपनर्स, मेलबर्न टेस्ट के लिए भारत और ऑस्ट्रेलिया ने किया प्लेइंग XI का ऐलान

ओपनिंग में राहुल और विजय फ्लॉप

टेस्ट टीम से राहुल और विजय की रेग्यूलर ओपनिंग जोड़ी को बाहर का रास्ता दिखा दिए जाने की बड़ी वजह है उनका परफॉर्मेन्स, जो पहले 2 टेस्ट में उम्मीदों पर खरा नहीं उतर सका. विजय ने अभ्यास मैच में शतक जड़कर जो अपने फॉर्म में होने के संकेत दिए थे वो उसे बरकरार नहीं रख सके वहीं राहुल लगातार फ्लॉप चल रहे हैं.

8 पारियों में  97 रन

पहले 2 टेस्ट की 8 पारियों में इन दोनों ओपनर्स ने मिलकर सिर्फ 97 रन बनाए हैं. इनमें 4 पारियों में राहुल ने 12 की घटिया औसत से 48 रन बनाए तो विजय ने भी इतनी ही पारियों में राहुल से एक रन ज्यादा यानी 49 रन बनाए. अब जिनके कंधों पर सॉलिड शुरुआत का दारोमदार हो वो ही इस कदर लड़खड़ाएंगे तो बात तो बिगड़ेगी ही, जो कि हुआ भी. इस खराब प्रदर्शन की वजह से इन दोनों भारतीय ओपनर्स का कॉन्फिडेंस बुरी तरह से डगमगाया हुआ है. यही वजह है कि इन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है.

विराट ने उठाया चौकाने वाला कदम

बहरहाल, मुरली विजय और केएल राहुल को बाहर करने के बाद टीम इंडिया ने इनकी कमान संभालने को जिसे चुना वो और भी ज्यादा चौकाने वाला रहा. मयंक अग्रवाल की बात तो थोड़ी समझ आती है, जो घरेलू क्रिकेट में लगातार पारी ओपन करते रहे हैं. फर्स्ट क्लास क्रिकेट में मयंक अग्रवाल का औसत करीब 50 (49.98) का है. उनका सबसे बड़ा स्कोर नाबाद 304 रन का है. सिर्फ 78 पारियों में वो 8 शतक और 20 अर्धशतक लगा चुके हैं.  दूसरी ओर हनुमा विहारी,  जिन्हें अपने इंटरनेशनल करियर के चौथे ही टेस्ट मैच में विराट ने नई गेंद का सामना करने की चुनौती दे दी है, मयंक की तरह मंंझे हुए ओपनर नहीं हैं. फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उन्होंने हैैदराबाद के लिए कभी कभी पारी की शुरुआत की है और नंबर 3 पर भी खेला है. लेकिन, इंटरनेशनल लेवल पर ये उनके लिए बड़ा चैलेंज होगा.

 

नई ओपनिंग जोड़ी बचाएगी ‘लाज’

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 4 टेस्ट मैच की सीरीज फिलहाल 1-1 से बराबर है. ऐसे में अब एक और हार भारत की ऑस्ट्रेलिया में पहली बार टेस्ट सीरीज जीतने की उम्मीदों को धो सकता है. यही नहीं इससे नंबर वन टेस्ट टीम की किरकिरी भी हो सकती है. ऐसे में अगर भारत को ऐसी किसी भी संभावना से पार पाना है तो मयंक और हनुमा कि उसकी नई ओपनिंग जोड़ी को कप्तान के भरोसे पर खरा उतरना होगा.