भारतीय टीम के पूर्व तेज गेंदबाज जहीर खान (Zaheer Khan) ने कहा है कि विराट कोहली (Virat Kohli) की कप्तानी वाली टीम के पास विश्व क्रिकेट का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी अटैक है।

जहीर ने दक्षिण अफ्रीका और भारत के खिलाफ शुरू हो रही टेस्ट सीरीज से पहले आईएएनएस से कहा कि भारत में ये तेज गेंदबाज बनने का सही समय है। जहीर ने कहा कि उन्हें जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी और ईशांत शर्मा जैसे खिलाड़ियों को देखकर और ज्यादा खुशी मिलती है क्योंकि ये लोग लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, “भारत में तेज गेंदबाज बनने का ये सही समय है। बुमराह, शमी, ईशांत, भुवनेश्वर कुमार, नवदीप सैनी ने इस बात को साबित किया है कि भारतीय टीम इस समय गेंदबाजी में पावरहाउस बन गई है।”

शून्य पर आउट हुए रोहित शर्मा, दूसरी ओर केएल राहुल ने जड़ा शतक

बाएं हाथ के पूर्व गेंदबाज ने कहा, “एक गेंदबाज के तौर पर मुझे काफी खुशी होती है और मैं उम्मीद करता हूं कि ये लोग इसी तरह मेहनत करना जारी रखेंगे और अपनी लय को बनाए रखेंगे जिसके कारण इन्हें ये परिणाम मिले हैं।”

गांगुली जैसे कप्तान हैं कोहली

भारत टेस्ट में इस समय नंबर-1 टीम है और इसका काफी हद तक श्रेय टीम के कप्तान कोहली के टेस्ट क्रिकेट के प्रति प्यार और सम्मान को जाता है। जहीर उन खिलाड़ियों में से रहे हैं जो गांगुली, धोनी और कोहली (IPL) की कप्तानी में खेल चुके हैं। जहीर का मानना है कि कोहली कप्तान के तौर पर काफी हद तक गांगुली से मिलते हैं।

उन्होंने कहा, “गांगुली ने हमें विश्वास दिलाया था कि हम विदेशों में भी जीत सकते हैं और हमें आक्रामक क्रिकेट खेलने के लिए प्रेरित किया था। धोनी मुश्किल परिस्थतियों में शांत रहते थे लेकिन उनकी मानसिकता आक्रामक थी। हमने उनकी कप्तानी में विश्व कप जीता, इसलिए उनकी कप्तानी में खेलना बेहद खास है।”

धोनी ने टीम इंडिया के अहम फैसले किए, संन्यास का फैसला उन्हें ही करने दें: धवन

उन्होंने कहा, “विराट काफी हद तक गांगुली की तरह हैं, वो अपने फैसलों में काफी बोल्ड हैं और हमेशा टीम को प्रेरित करते रहते हैं। उनकी बेहतरीन बल्लेबाजी फॉर्म भी उनकी कप्तानी में दिखती है। मैं चाहता हूं कि वो एक दिन विश्व कप जीतें।”

बुमराह को फिटनेस पर काम करने की जरूरत

बुमराह चोट की वजह से आगामी दक्षिण अफ्रीकी सीरीज में नहीं खेलेंगे। जहीर वो शख्स हैं जिनके सामने बुमराह आगे बढ़े हैं। बुमराह के बारे में जहीर ने कहा, “मैंने बुमराह को तब से देखा है जब वो काफी युवा थे। मुंबई इंडिंयस के साथ शुरुआती दिनों में वो बेहद प्रतिभाशाली है और मैं इस बात से खुश हूं कि वह बीते वर्षो में काफी परिपक्व हुए हैं और अपनी टीम के लिए उन्होंने काफी शानदार प्रदर्शन किया है।”

उन्होंने कहा, “अनका अनोखा एक्शन उनके काफी काम आया है। मुझे लगता है कि उन्हें सिर्फ अपनी फिटनेस पर काम करने की जरूरत है और बिना किसी अतिरिक्त दबाव के आगे बढ़ना होगा।”

पाक कोच मिसबाह उल हक ने कश्मीर से जुड़े सवाल को टाला, बोले- क्रिकेट की बात करें

जहीर ने टेस्ट में रोहित के सलामी बल्लेबाजी करने पर कहा, “उन्होंने बीते छह महीनों में जो फॉर्म दिखाई है उसे देखकर आप रोहित जैसी काबिलियत वाले खिलाड़ी को प्लेइंग-11 से बाहर नहीं रख सकते। हमें इंतजार करना होगा और देखना होगा, हालांकि मुझे उनकी काबिलियत पर कोई संदेह नहीं है।”