नई दिल्ली. भारतीय कप्तान विराट कोहली ने आईसीसी के उस नये नियम पर चिंता व्यक्त की जिसमें पानी पीने के लिये ब्रेक केवल विकेट गिरने या ओवरों के बीच में ही लिया जा सकता है. उन्होंने उम्मीद जताई कि मैच अधिकारी बाहरी कारकों जैसे गर्मी को भी ध्यान में रखें.

ड्रिंक्स ब्रेक पर ICC का नया नियम

आईसीसी के 30 सितंबर से लागू हुए नये नियमों के अनुसार पानी पीने का ब्रेक केवल विकेट गिरने या फिर ओवरों के बीच में ही लिया जा सकता है. लेकिन  अंपायर की सहमति से कभी भी ब्रेक लिया जा सकता है. भारत और वेस्टइंडीज के बीच यहां पहले टेस्ट के तीनों दिन तापमान 40 डिग्री सेल्सियस तक रहा, दोनों टीमों के खिलाड़ियों ने अंपायरों की निगरानी में ड्रिंक बेक लिये.

विराट कोहली की प्रतिक्रिया

कोहली ने कहा, ‘‘अंपायरों ने नये नियम के अनुसार हमें ज्यादा पानी नहीं पीने दिया. लेकिन इन चीजों को ध्यान रखना चाहिए कि हम कैसी परिस्थितियों में खेल रहे हैं. ’’ इस सतर्कता से ओवर गति में सुधार हुआ. कोहली ने कहा, ‘‘खिलाड़ी इस मैच में काफी परेशान हुए क्योंकि नियमों में कुछ परिवर्तन हुआ है. खिलाड़ियों के लिये बल्लेबाजी और क्षेत्ररक्षण करते हुए 40-45 मिनट तक पानी नहीं पीना काफी मुश्किल था. मुझे पूरा भरोसा है कि इस पर ध्यान दिया जायेगा. ’’

बल्लेबाजी करते हुए चेतेश्वर पुजारा और पृथ्वी शॉ ने ड्रिंक ब्रेक की पांबदी को देखते हुए अपनी जेब में छोटी बोतल रखी, जिसमें से वह पानी पीते रहे.