भारतीय टीम ने रविवार को वेस्टइंडीज के खिलाफ कटक में साल का अपना आखिरी मैच खेला। अच्छी बात ये रही की टीम इंडिया ने साल की अंत जीत के साथ किया और कटक वनडे में 4 विकेट से जीत हासिल कर सीरीज पर कब्जा किया। मैच के बाद कप्तान विराट कोहली ने कहा कि ये साल भारत के लिए बेहद शानदार रहा है, अगर इसमें से आईसीसी विश्व कप के वो 30 मिनट निकाल दें।

प्रेसेंटेशन सेरेमनी के दौरान कप्तान ने कहा, “ये भारतीय क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ सालों में से एक रहा है, विश्व कप के उन 30 मिनटों को निकाल दें तो ये खूबसूरत साल था। हम विश्व कप का पीछा करते रहेंगे, वो हमारा लक्ष्य है।”

इस बात की संभावना कम है कि भारतीय फैंस इसे भूल गए हों लेकिन फिर भी याद दिला दें कि भारतीय टीम इंग्लैंड में आयोजित हुए विश्व कप सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ हारकर टूर्नामेंट से बाहर हो गया था।

IPL 2020 में लागू होगा ये नया नियम, टूर्नामेंट के बीच में बदले जा सकेंगे खिलाड़ी

कटक वनडे में रोहित शर्मा और केएल राहुल की शतकीय साझेदारी टूटने के बाद कोहली एक छोर से पारी को संभाले रहे लेकिन 47वें ओवर में कीमो पॉल ने भारतीय कप्तान को बोल्ड कर दिया। जिसके बाद स्टेडियम में सन्नाटा का छा गया लेकिन ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा ने शार्दुल ठाकुर के साथ मिलकर भारत को सीमारेखा पार कराई। जिससे कप्तान बेहद खुश हैं।

उन्होंने कहा, “इतनी बार ये (चेज करके मैच जीतना) करने के बाद आपके अंदर एक शान्ति रहती है, आपको केवल एक छोटी साझेदारी की जरूरत होती है और विपक्षी टीम बिखर जाती है। शार्दुल और जड्डू को मैच फिनिश करते देखना अच्छा रहा, इन लोगों को मैच फिनिश करना बड़ी बात है। जब मैं पवेलियन लौट रहा था तो मैं नर्वस था लेकिन फिर मैने जड्डू की तरफ देखआ तो वो बेहद आत्मविश्वासी लग रहा था।”

भारतीय कप्तान ने आगे कहा, “भारतीय क्रिकेट में तेज गेंदबाजों का समूह होना बहुत अच्छा है, और उनका स्पिन गेंदबाजों पर से दबाव हटाना और भी शानदार। हमारे अंदर विदेश में सीरीज जीतने की क्षमता है और हमारे तेज गेंदबाज इसके काबिल हैं। हम ये जानने की कोशिश कर रहे हैं कि लोग दबाव पर कैसे प्रतिक्रिया देते हैं। बात सिर्फ उन लोगों की पहचान करने के बारे में है और ये कुछ ऐसा है जिसके लिए हम प्रयास करते रहेंगे।”