नई दिल्ली. विराट कोहली की बल्लेबाजी की कायल पूरी दुनिया है. मौजूदा वक्त में वो जिस तरह से बल्लेबाजी कर रहे हैं उसके बाद उन्हें वनडे क्रिकेट के बेस्ट बल्लेबाज का टैग भी मिलने लगा है. साउथ अफ्रीकी धरती पर विराट ना सिर्फ रन बना रहे हैं बल्कि रिकॉर्डों की नई परिभाषा भी गढ़ रहे हैं. अब तक वो कई सारे रिकॉर्ड तोड़ चुके हैं. वहीं कुछ के तोड़ने करीब हैं. इसी में से एक रिकॉर्ड हैं सर डॉन ब्रैडमैन का. कोहली के पास साउथ अफ्रीका में ब्रैडमैन को पीछे छोड़ आगे निकलने के बेहतरीन मौका है. Also Read - सर डॉन ब्रैडमैन के 112वें जन्मदिन पर, जानें उनके वो रिकॉर्ड जो बल्लेबाजों के बने रहेंगे सपने

Also Read - CSK के लिए फायदेमंद होंगी यूएई की धीमी पिचें : शेन वाटसन

साउथ अफ्रीका के दौरे पर टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने अब तक 13 पारियों में 870 रन बनाए हैं. अगर अब वो बाकी बचे 2 T20 मुकाबलों में 104 रन और बना लेते हैं तो एक दौरे पर सर्वाधिक रन बनाने के मामले में ऑस्ट्रेलिया के पूर्व बल्लेबाज सर डॉन ब्रैडमैन से आगे निकल जाएंगे. ब्रैडमैन ने 1930 के इंग्लैंड दौरे पर खेले 5 टेस्ट मैचों में 974 रन बनाए थे. Also Read - शाहिद आफरीदी ने MS Dhoni को बताया रिकी पोंटिंग से बेहतर कप्तान, जानिए वजह

एक दौरे पर सर्वाधिक 1045 रन बनाने का रिकॉर्ड वेस्टइंडीज के विव रिचर्ड्स के नाम है. रिचर्ड्स ने 1976 के इंग्लैंड दौरे पर खेले 4 टेस्ट मैचों में 829 रन बनाए थे जबकि 3 वनडे की सीरीज में 216 रन बनाए थे.

तेंदुलकर का रिकॉर्ड तोड़ा, डिविलियर्स को पीछे छोड़ा, सबसे आगे दिल्ली का 'छोरा' !

तेंदुलकर का रिकॉर्ड तोड़ा, डिविलियर्स को पीछे छोड़ा, सबसे आगे दिल्ली का 'छोरा' !

रिचर्ड्स के रिकॉर्ड से कोहली 175 रन दूर हैं वहीं एक दौरे पर 1000 रन बनाने वाले दूसरे बल्लेबाज बनने से 130 रन दूर हैं.

कोहली साउथ अफ्रीका में शानदार फॉर्म में हैं. 3 टेस्ट मैचों में उन्होंने286 रन बनाए. वहीं, 6 वनडे मैचों में उन्होंने 558 रन बनाए. वनडे सीरीज में कोहली के बल्ले से 3 सेंचुरी भी निकली. किसी बाइलेट्रंल सीरीज में ये किसी बल्लेबाज का अब तक का बेस्ट प्रदर्शन है.

जोहान्सबर्ग में खेले पहले टी20 में कोहली ने 20 गेंदों पर 26 रन बनाए. यानी, ब्रैडमैन का रिकॉर्ड तोड़ने और एक दौरे पर हजार रन बनाने वाले दूसरे बल्लेबाज बनने के लिए अब कोहली के पास सिर्फ 2 मुकाबले बचे हैं. देखना ये है कि सेंचुरियन से केपटाउन तक के सफर में वो इन रिकॉर्ड पर अपनी कामयाबी की मुहर कैसे लगाते हैं.