नई दिल्ली : ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ब्रिस्बेन में टीम इंडिया को टी-20 सीरीज के पहले मैच में हार का सामना करना पड़ा. कप्तान विराट कोहली का कहना है कि उनकी टीम गलतियों से रीख रही है. उन्हें उम्मीद है कि आने वाले मैचों में भारत वापसी करेगा. कोहली ने दिेनेश कार्तिक और रिषभ पंत का जिक्र करते हुए कहा कि इन दोनों खिलाड़ियों की बल्लेबाजी के दौरान लगा कि वो जीत जायेंगे. लेकिन फिर मैच बदल गया. कप्तान ने ये भी बताया कि मैच का रुख कहां बदला. Also Read - पाकिस्तान ने माना कोहली का लोहा, पूर्व कप्तान राशिद लतीफ बोले- विराट से पंगा मत लेना वर्ना...

कोहली ने मैच के बाद कहा, “चीजों पर अब ज्यादा सोचने का समय नहीं है. हम गलतियों से सीख लेकर अच्छी वापसी कर सकते हैं. हमने बल्ले से शुरुआत तो अच्छी की, लेकिन मध्यम ओवरों में टीम लड़खड़ा गई. आखिरी में जब ऋषभ पंत और दिनेश कार्तिक बल्लेबाजी कर रहे थे तो हमें लगा कि हम जीत जाएंगे. लेकिन पंत के आउट होने के बाद मैच फिर पलट गया.” Also Read - On this day: 25 साल पहले वनडे में 3,000 रन बनाने वाले सबसे युवा बल्लेबाज बने थे सचिन तेंदुलकर

INDvsAUS: टीम इंडिया के दो विकेटकीपरों में छिड़ी थी जंग, दोनों ने गंवाया खास मौका Also Read - LOCKDOWN में भी इस तकनीक के जरिए कोहली एंड कंपनी की फिटनेस पर लगातार रखी जा रही नजर

भारतीय कप्तान ने मैच में शानदार अर्धशतक बनाने वाले धवन की तारीफ करते हुए कहा, “शीर्ष क्रम में वह एक मजबूत खिलाड़ी हैं. उन्होंने टी-20 में अब तक शतक नहीं लगाया है, लेकिन जिस तरह से वह खेलते हैं इससे उनको फायदा होता है.”

कोहली ने भारी संख्या में मैच देखने आए भारतीय दर्शकों की प्रशंसा करते हुए कहा, “चाहें हम जहां कहीं भी खेलें, काफी संख्या में भारतीय दर्शक हमारा समर्थन करते आते हैं. यह एक नजदीकी मुकाबला था और दर्शकों के साथ-साथ खिलाड़ी भी इसे लेकर काफी उत्साहित थे.”

AUSvsIND: शिखर धवन के नाम दर्ज हुआ वर्ल्ड रिकॉर्ड, कोहली-रोहित समेत कई खिलाड़ी रहे पीछे

गाबा मैदान पर ऑस्ट्रेलियाई पारी के 16वें ओवर में बारिश आ गई और फिर मैच को 17-17 ओवरों का कर दिया गया. ऑस्ट्रेलिया ने इन 17 ओवरों में चार विकेट पर 158 रन का स्कोर बनाया. इसके बाद भारत को डकवर्थ लुइस प्रणाली के तहत 17 ओवरों में 174 रनों का लक्ष्य मिला लेकिन मेहमान टीम ओपनर शिखर धवन (76) के अर्धशतक के बावजूद तमाम प्रयासों के बाद सात विकेट पर 169 रन ही बना सकी.