नई दिल्ली: आईपीएल 2018 का सबसे रोमांचक मुकाबला रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और दिल्ली डेयरडेविल्स के एम.चिन्नास्वामी स्टेडियम में शनिवार को खेला जायेगा. यह मुकाबला इसलिए सबसे रोमांचक होगा क्यों कि इसमें दिल्ली के दो दिग्गज खिलाड़ी मैदान में आमने-सामने होंगे. यहां बात हो रही है दिल्ली के कप्तान गौतम गंभीर और बैंगलोर के कप्तान विराट कोहली की. इन दोनों खिलाड़ी का होमटाउन दिल्ली है. खास बात यह है कि इन दोनों के नेचर भी थोड़ा मिलता-जुलता है. कोहली जितने एग्रेसिव खिलाड़ी हैं, उतने ही गंभीर भी. लिहाजा यह बेहद रोचक और रोमांचक मैच होने वाला है.

अगर कोहली और गंभीर के प्रदर्शन पर नजर डालें इसमें भी महज 19-20 का फर्क समझ आता है. बतौर बल्लेबाज इन दोनों खिलाड़ियों ने कई बार मैच विनिंग परफॉर्मेंस किया है. अगर कप्तानी की बात करें तो दोनों की रणनीतियों में फर्क जरूर दिखता है, लेकिन कहीं न कहीं आक्रामकता की समानता भी दिखती है. गंभीर और कोहली दोनों ही खिलाड़ी इस सीजन में अपनी-अपनी टीमों के लिए ओपनिंग कर रहे हैं. लिहाजा इस मुकाबले में क्रिकेट फैन्स की नजर इन दोनों खिलाड़ियों पर होगी.

कोलकाता के खिलाफ पंजाब का ये खिलाड़ी प्लेइंग इलेवन से होगा बाहर !

कोहली ने आईपीएल में अब तक 153 मुकाबले खेले हैं, जिनमें 4619 रन बनाए. इस दौरान उन्होंने 167 छक्के और 401 चौके जड़े हैं. वहीं गंभीर ने 152 आईपीएल मुकाबलों में 4210 रन बनाए हैं. इस दौरान गंभीर ने 59 छक्के और 491 चौके जड़े हैं. गंभीर छक्के जड़ने के मामले में कोहली से जरूर पीछे हैं लेकिन ओवरऑल बाउंड्रीज में ज्यादा फर्क नहीं है. हालांकि यह भी है कि कोहली लीग में कुल 4 शतक जड़े हैं और गंभीर अभी तक शतक नहीं जड़ हैं. गंभीर का सर्वाधिक आईपीएल स्कोर 93 रन है. हालांकि अर्धशतक के मामले में दोनों ही खिलाड़ी एक दूसरे को टक्कर देते हैं. गंभीर ने 36 अर्धशतक और कोहली ने 32 अर्धशतक जड़े हैं.

वॉटसन ने धोनी-फ्लेमिंग के बारे में कही दिल को छू देने वाली बात

बता दें कि बैंगलोर और दिल्ली की स्थिति इस सीजन में करीब-करीब एक जैसी ही है. दोनों टीमों ने अब तक 4 मैच खेले हैं, जिनमें सिर्फ एक मैच ही जीता है. बैंगलोर पॉइंट टेबल 7वें स्थान पर है. वहीं दिल्ली 8वें स्थान पर है. बैंगलोर का बॉलिंग आटैक थोड़ कमजोर दिखा है और बल्लेबाजी भी विराट कोहली के भरोस पर रही है. अगर बात दिल्ली की करें तो टीम के पास अच्छे गेंदबाज हैं और बल्लेबाजी भी ठीक है.