नई दिल्ली: टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली का बुधवार को मैडम तुसाद म्यूजियम में मोम का पुतले का अनावरण किया गया. इसे देखने के लिए विराट के सैकड़ों फैन्स पहुंचे. लेकिन फैन्स को पुतला दिखाना महंगा पड़ गया. दरअसल विराट के वैक्स स्टैच्यू को देखने आए फैन्स ने सेल्फी लेने के चक्कर में स्टैच्यू का कान तोड़ दिया. Also Read - KXIP vs RCB: अजीत अगरकर ने विराट के निर्णयों उठाए सवाल, बोले- कभी रेस में ही नहीं थे...

Also Read - मैंने कोहली के प्रदर्शन के लिए उसे दोष कब दिया?; पूर्व कप्तान गावस्कर ने दिया अनुष्का शर्मा को जवाब;

कोहली के पुतले को बनाने में करीब छह महीने का वक्त लगा, जिसे 20 कलाकारों ने मिलकर बनाया. लेकिन इसे देखने पहुंचे लोगों ने पहले दिन ही क्षतिग्रस्त कर दिया. हालांकि इसे अब ठीक कर दिया गया और इसे देखने के लिए फिर से लगा दिया गया है. आम तौर पर किसी भी म्यूजियम में मूर्तियों या पुतलों को छूने की इजाजत नहीं होती है. लेकिन मैडम तुसाद म्यूजियम की यह खासियत है कि पुतलों को देखने आए लोग इसके साथ फोटो क्लिक करवा सकते हैं. इसी वजह से वहां मौजूद भीड़ ने अफरा तफरी के माहौल में उसे क्षतिग्रस्त कर दिया. Also Read - अनुष्‍का शर्मा को लेकर विवादित बयान पर सुनील गावस्‍कर ने दी सफाई, बोले- मैंने तो सिर्फ…

डोपिंग टेस्ट में पॉजिटिव पाया गया भारतीय खिलाड़ी, BCCI ने किया सस्पेंड

गौरतलब कि कोहली ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया था, जिसमें उन्होंने फैन्स को बताया कि बुधवार को मैडम तुसाद म्यूजियम में उनके पुतले का अनावरण होने वाला है. कोहली के इस वीडियो पर कई तरह की प्रतिक्रियाएं मिलीं.

देखें वीडियो :

बता दें कि कोहली पहले ऐसे भारतीय खिलाड़ी नहीं हैं जिनका पुतला मैडम तुसाद म्यूजियम में लगा है. कोहली से पहले सचिन तेंदुलकर और कपिल देव का भी पुतला यहां लगाया जा चुका है. इन सभी पुतलों को लंदन से आए कलाकारों ने बनाए हैं.