नई दिल्ली. भारतीय कप्तान विराट कोहली ने जुलाई में शुरू होने वाले इंग्लैंड दौरे की तैयारी के मद्देनजर गुरुवार को आधिकारिक रूप से शीर्ष काउंटी टीम सरे से करार पर हस्ताक्षर किये. काउंटी ने आधिकारिक रूप से आज अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर इसकी घोषणा की. कोहली जून में तीन काउंटी चैम्पियनशिप मैच खेलेंगे, जिससे वह बेंगलुरू में 14 से 18 जून तक अफगानिस्तान के खिलाफ ऐतिहासिक पहला टेस्ट मैच नहीं खेल पायेंगे. प्रशासकों की समिति के प्रमुख विनोद राय पहले ही कह चुके हैं कि अगस्त में टेस्ट सीरीज की तैयारी के लिये कोहली को काउंटी खेलने के लिये प्रोत्साहित किया जायेगा.

पिछली बार इंग्लैंड दौरे पर कोहली अच्छा नहीं कर सके थे और इस बार वह इसकी भरपायी करना चाहते हैं. इंग्लैंड में रन बनाने से उनका आधुनिक दौर के महान क्रिकेटरों का दर्जा पक्का हो जायेगा क्योंकि वह सभी टेस्ट खेलने वाले देशों में रन जुटा लेंगे. वह ऑस्ट्रेलिया , दक्षिण अफ्रीका में कई टेस्ट शतक जड़ चुके हैं , इसके अलावा वह न्यूजीलैंड और वेस्टइंडीज में भी तिहरे आंकड़े तक पहुंच चुके हैं.

सरे ने किया ऐलान

क्लब ने वेबसाइट www.kiaoval.com पर घोषणा करते हुए कहा कि सरे काउंटी क्रिकेट क्लब को भारतीय कप्तान विराट कोहली से जून के महीने के लिये करार की घोषणा करते हुए खुशी हो रही है. इस मौके पर कोहली ने कहा, मैं लंबे समय से काउंटी क्रिकेट में खेलना चाहता था और मैं एलेक स्टीवर्ट और सरे का शुक्रगुजार हूं जिन्होंने मुझे टीम के 2018 सत्र के दौरान जुड़ने का मौका प्रदान किया. मैं किआ ओवल में खेलने के लिये बेताब हूं. कोहली नौ से 12 जून तक साउथम्पटन में रोज बाउल में हैम्पशर के खिलाफ काउंटी पदार्पण करेंगे. अगर यह मैच 12 जून को खत्म होता है तो वह अगले दिन 13 जून को ही बेंगलुरू पहुंच सकते हैं जिससे वह अफगानिस्तान के खिलाफ टेस्ट शुरू होने से एक दिन पहले पहुंच सकते हैं. इसका मतलब है कि वह दो महाद्वीप की यात्रा में एक दिन बिताने के साथ नौ दिन तक लगातार क्रिकेट खेलेंगे.

टी-20 मैच: लॉर्ड्स में होगा धमाल, पांड्या और कार्तिक भी दिखाएंगे कमाल

दूसरा मैच गिल्डफोर्ड में 20 से 23 जून तक समरसेट के खिलाफ होगा जबकि अंतिम मैच स्कारबोरो में 25 से 28 जून तक यार्कशर के खिलाफ होगा जहां पुजारा उनके खिलाफ टीम में शामिल होंगे. सरे के क्रिकेट निदेशक स्टीवर्ट ने कहा कि हम जून के महीने में विश्व क्रिकेट के बड़े नाम से करार करके रोमांचित हैं. उन्होंने कहा कि हमारे खिलाड़ियों का विराट के साथ खेलना और ट्रेनिंग करना फायदेमंद होगा क्योंकि उन्हें उससे काफी कुछ सीखने का मौका मिलेगा. इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ने कहा, ऐसे समय में जब काउंटी क्रिकेट के भविष्य पर इतनी चर्चा हो रही है तो विराट के आने से हमारे घरेलू किकेट को मनोबल काफी बढ़ेगा जिससे हर काउंटी टीम को फायदा मिल सकता है.

कोहली इस सीजन के चौथे भारतीय क्रिकेटर

सरे की वेबसाइट के अनुसार, कोहली पूरे महीने क्रिकेट खेलने के लिये उपलब्ध रहेंगे जिसमें सरे के स्कारबोरो दौरे पर यार्कशर के खिलाफ मैच अंतिम होगा. 29 वर्षीय कोहली इस साल काउंटी क्रिकेट में खेलने वाले चौथे भारतीय टेस्ट खिलाड़ी बन जाएंगे. साथी बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा इस समय यार्कशर के लिये , तेज गेंदबाज इशांत शर्मा ससेक्स और वरूण आरोन लिसेस्टरशर के खिलाफ खेल रहे हैं. अक्षर पटेल को अगस्त में डरहम के लिये खेलना है.

कोहली का 2011 से जबरदस्त प्रदर्शन

साल 2011 में अपने टेस्ट पदार्पण के बाद कोहली ने टेस्ट मैचों में 53.40 के औसत से 5554 रन बनाये हैं जबकि उन्होंने 58.10 के औसत से वनडे में 9588 रन जुटाये हैं. इस मध्यक्रम बल्लेबाज ने 2017 में आईसीसी वर्ल्ड क्रिकेटर ऑफ द ईयर के लिये प्रतिष्ठित सर गारफील्ड सोबर्स ट्राफी जीती थी. अंतरराष्ट्रीय मैच के सभी तीनों प्रारूपों में उनका औसत 50 रन का है. साल 2014-15 में भारत के आस्ट्रेलिया दौरे के दौरान टेस्ट कप्तानी संभालने के बाद कोहली ने देश की टीम को 34 मैच में से 21 टेस्ट जीत से आईसीसी रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंचा दिया. साल 2017 कोहली को ‘ विजडन लीडिंग क्रिकेटर इन द वर्ल्ड ’ और साल का सर्वश्रेष्ठ ‘ कैप्टन ऑफ द आईसीसी टेस्ट एंड वनडे टीम ’ चुना गया था.