नई दिल्ली : मैडम तुसाद म्युजियम की दिल्ली शाखा में भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली की मोम की प्रतिमा बुधवार को अनावरण किया गया. मैडम तुसाद म्युजियम की स्थापना वर्ष 1835 में मोम शिल्पकार मेरी तुसाद ने लन्दन में की गई थी. वर्तमान में विश्व के प्रमुख शहरों में मैडम तुसाद संग्रहालय की शाखाएं हैं. दिल्ली के इस संग्रहालय में लियोनेल मेस्सी, कपिल देव और उसेन बोल्ट सरीखे खिलाडियों की वैक्स की मूर्तियां पहले ही से इस संग्रहालय में मौजूद हैं. Also Read - राहुल द्रविड़ ने उठाया बड़ा सवाल- टेस्ट मैच के दूसरे दिन खिलाड़ी संक्रमित निकला तो क्या होगा?

विराट ने फैन्स को कहा शुक्रिया
इस अवसर पर भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने कहा कि, मैं इस प्रतिमा को बनाने के लिए किए गए प्रयासों की सराहना करता हूं. साथ ही उन्होंने मैडम तुसाद म्युजियम को अपना चयन करने के लिए धन्यवाद भी दिया. इस अवसर पर विराट ने अपने प्रशंसकों का भी शुक्रिया अदा किया. कोहली का ये बयान मैडम तुसाद संग्रहालय द्वारा जारी किया गया जिसमें उन्होंने कहा है कि, “ मैं इस प्रतिमा को बनाने के लिये किये गए प्रयासों की सराहना करता हूं. मैं मैडम तुसाद म्युजियम को धन्यवाद देता हूं जिसने मेरा चयन किया. मैं अपने प्रशंसकों का भी शुक्रगुजार हूं.’’ Also Read - दिल्‍ली आज देश का दूसरा सबसे गर्म शहर, राजस्थान के चुरु में 50 °C तापमान रिकॉर्ड

विराट जीवन की अनमोल याद
विराट ने कहा यह मेरे जीवन की अनमोल यादों में से एक होगा. कोहली की प्रतिमा उनसे मुलाकात के दौरान लिए गए 200 मापों और तस्वीरों के माध्यम से बनाई गई. इस वैक्स स्टेचू में वह भारतीय क्रिकेट टीम की जर्सी पहने हुए हैं. विराट कोहली अपने क्रिकेट जीवन के सुनहरे कैरियर में अर्जुन पुरस्कार आईसीसी विश्व के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर का पुरस्कार और बीसीसीआई के सर्वश्रेष्ठ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर के तीन पुरस्कार जीत चुके हैं. दिल्ली के इस मैडम तुसाद संग्रहालय में लियोनेल मेस्सी, कपिल देव और उसेन बोल्ट सरीखे खिलाडियों की वैक्स की मूर्तियां पहले ही से इस संग्रहालय में मौजूद हैं.
(इनपुट एजेंसी) Also Read - शोएब अख्तर ने कहा- कट या पुल शॉट नहीं खेल पाते हैं विराट कोहली