नई दिल्ली. टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली इन दिनों IPL खेलने में बिजी हैं. लेकिन IPL की व्यस्तता के बावजूद वो अपने लंदन ड्रीम्स को नहीं भूले हैं. एक बार फिर विराट ने विलायती बाबू बनने का प्लान दोहराया है. विराट ने एक बार फिर से ये कहा है कि वो इंग्लैंड जाकर काउंटी क्रिकेट खेलने को बेताब है. बता दें कि भारत का इंग्लैंड दौरा जुलाई से शुरू हो रहा है. लेकिन इस दौरे पर टीम इंडिया के जाने से 26 दिन पहले ही विराट वहां जाकर विलायती माहौल में ढल जाना चाहते हैं. इंग्लैंड दौरे पर भारत को 5 टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी है, जो विराट की कप्तानी के लिए ताबुत में लगे उस कील की तरह है जिसे उन्हें हर हाल में हासिल करना है. विराट का इरादा इंग्लैंड में सिर्फ अपनी कप्तानी में भारत को टेस्ट सीरीज जीताना ही नहीं है बल्कि इसके साथ साथ बल्ले से रनों का बिगुल बजाना भी है. दरअसल, पूरी दुनिया में अब बस इंग्लैंड का ही कोना बचा है जहां अब तक विराट का बल्ला कुछ खास नहीं गरजा है.

विराट के निशाने पर इसलिए है इंग्लैंड

विराट ने साल 2014 में टीम इंडिया के साथ इंग्लैंड का दौरा किया था. उस दौरे पर भारत को 1-0 से बढ़त बनाने के बाद 1-3 से टेस्ट सीरीज गंवानी पड़ी थी. वहीं कोहली के बल्ले से 5 टेस्ट में सिर्फ 134 रन निकले थे, जिसमें उनका बेस्ट स्कोर 39 रन का था.

विराट फिलहाल टेस्ट बल्लेबाजों की ICC रैंकिंग में नंबर 2 बल्लेबाज हैं वहीं वनडे बल्लेबाजों की रैंकिंग में वो नंबर वन पर हैं. कोहली ने कहा कि वो इंग्लैंड में अपना रिकॉर्ड दुरुस्त करना चाहते हैं. यही वजह है कि वो टीम के वहां जाने से 26 दिन पहले यानी कि जून में ही काउंटी क्रिकेट खेलेंगे. एक इंटरव्यू ने विराट ने कहा कि काउंटी क्रिकेट से मेरा खेल दुरुस्त होगा. ये मुझे वो मौका देगा जिससे मैं इंग्लैंड के कंडीशन और मिजाज के साथ खुद को ढाल पाऊंगा. “काउंटी क्रिकेट में कोहली सरे के लिए खेलते दिखेंगे.

चेतेश्वर पुजारा और ईशांत शर्मा भारतीय टेस्ट टीम के दो और खिलाड़ी हैं जो इस वक्त काउंटी क्रिकेट में खेल रहे हैं. ईशांत शर्मा ने सरे के लिए खेलते हुए वॉर्कशायर के खिलाफ 5 विकेट चटकाए थे तो वहीं पुजारा एसेक्स के लिए खेल रहे हैं.

इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज से पहले भारत को 4 दिन का एक वार्म अप मैच भी एसेक्स के खिलाफ खेलना है. इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज की शुरुआत 1 अगस्त से होगी.