हाल ही में जनवरी महीने में हुए पठानकोट आतंकी हमले के दौरान कई बहादुर सैनिकों की कहानी सामने आयी। इसी दौरान भारत सहित पूरी दुनिया ने देखा आखिर किस तरफ भारत माता के ये सपूत देश की रक्षा के लिए जान हथेली पर रखकर लड़ाई करते है और दुश्मनों के नापाक मंसूबों को पूरा होने नहीं देते है। यही कारण है कि देश में बच्चे से लेकर बूढ़े सभी इन जवानों को सलाम करते है। Also Read - रवींद्र जडेजा पर फिर बरसे संजय मांजरेकर, बोले- वनडे क्रिकेट में नहीं करते डिजर्व

Also Read - IN Pics: 26/11 हमले की 12वीं वर्षगांठ पर Sachin-Virat-Sehwag छलका दर्द, इस तरह किया शहीदों को याद

इसलिए हम आपको एक ऐसे जवान के बारें में बताना चाहते है जिसके कारनामे को देश आज भी नहीं भुला है। इस शख्स का नाम है शैलेश गौर। इसी कड़ी में क्रिकेट के धुरंधर बल्लेबाज और भारत के सबसे बड़े ओपनर वीरेंद्र सहवाग ने इस जवान को याद करते हुए एक तस्वीर ट्वीटर पर शेयर की है। साथ ही वीरू ने यह भी कहा कि ऐसे ही लड़ते रहिये। Also Read - Kapil Dev ODI-XI : धोनी करेंगे कप्‍तानी, सचिन-सहवाग पर ओपनिंग की जिम्‍मेदारी, ये बड़े नाम नदारद

गौरतलब है कि 6 गोलियां लगने के बाद जहां किसी का बचना भी मुमकिन नही हो पाता है, वहीं शैलेश के पेट में आधा दर्जन गोलियां लगने के बाद भी वो आंतकियों को अपने हौसले से पस्त करते रहे। गरुड़ कमांडो शैलेश गौर लगातार आतंकियों को मुंह तोड़ जवाब देते रहे। यह भी पढ़े- सहवाग ने ट्विटर पर उड़ाया शोएब का मजाक, अख्तर ने किया माफ

बताना चाहेंगे कि शैलेश के पेट में 6 गोलियां लगी और उनका खून बिना रुके बहना शुरु हो गया। इसके बाद बी शैलेश एक घंटे तक लड़ाई लड़ी। इस बीच वो बैकअप का इंतजार कर रहे थे। इसके बाद आतंकी वहां से भागने में कामयाब हुए, लेकिन उन्हें टेक्नीकल विंग में घुसने नहीं दिया गया।

ज्ञात हो कि यह ऑपरेशन 80 घंटे तक चला, जिसमें 7 जवान शहीद हुए और 20 घायल हो गए। इन घायलों में शैलेश भी थे।