राजकोट टी20 में रोहित शर्मा ने 85 रन की मैच विनिंग पारी खेलकर सीरीज में भारत को 1-1 से बराबरी पर पहुंचाया.Also Read - वनडे टीम की कप्तानी छोड़ने को तैयार नहीं थे Virat Kohli, BCCI ने समयसीमा देकर छीनी कप्तानी

भारतीय टीम के दिग्‍गज सलामी बल्‍लेबाज वीरेंद्र सहवाग का मानना है कि जब तेजी से रन बनाने की बात आती है तो इस मामले में भारतीय टीम के कार्यवाहक कप्‍तान रोहित शर्मा कप्‍तान विराट कोहली से भी आगे नजर आते हैं. Also Read - वनडे कप्तानी में MS Dhoni, Azharuddin और Sourav Ganguly से बहुत आगे हैं Virat Kohli, फिर भी गंवाई, देखें आंकड़ें

Also Read - IND vs SA- भारत के पास साउथ अफ्रीका जाकर टेस्ट सीरीज जीतने का गोल्डन चांस: Harbhajan Singh

पढ़ें:- रिषभ पंत की बार-बार गलतियों पर श्रीलंकाई दिग्‍गज विकेटकीपर बल्‍लेबाज की सलाह, बोले…

राजकोट टी20 में रोहित शर्मा ने 43 गेंद पर 85 रन की विस्‍फोटक पारी खेलकर टीम इंडिया को जीत दिलाई. उन्‍होंने अपनी पारी में छह छक्‍के और छह चौके लगाए. इस जीत ने साथ ही भारत बांग्‍लादेश के खिलाफ टी20 सीरीज में 1-1 से बराबरी पर पहुंचा गया है.

वेबसाइट क्रिकबज में वीरेंद्र सहवाग ने लिखा, “एक ओवर में तीन-चार छक्के मारना और 45 गेंदों पर 80-90 रन बनाना एक कला है जो मैंने विराट में भी उतनी निरंतरता से नहीं देखी जितनी रोहित में है.”

सहवाग ने कहा, “सचिन हमेशा कहा करते थे कि जो मैं मैदान पर कर सकता हूं वो आप क्यों नहीं कर सकते? लेकिन उन्होंने इस बात को कभी नहीं समझा कि भगवान सिर्फ एक ही होता है और जो भगवान करता है वो कोई और नहीं कर सकता.”

पढ़ें:- इंग्लिश कमेंटेटर ने सीन एबोट की वापसी पर याद दिलाई फिल ह्यूज की मौत, भड़के फैन्‍स ने बोले- इसे…

भारत और बांग्लादेश के बीच गुरुवार रात को खेले गया मैच रोहित के करियर का 100वां अंतारराष्ट्रीय मैच था. रोहित मैच के बाद चहल टीवी पर आए जहां भारत के ही लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने उनसे बात की.

“मैंने जब लगातार तीन छक्के मारे तो मैं एक और मारने के लिए गया. लेकिन मैं चौथे पर चूक गया. मैंने फैसला किया कि मैं एक रन लूंगा. आपको बड़े छक्के मारने के लिए भारी भरकम शरीर नहीं चाहिए. आप (चहल) भी छक्के मार सकते हो. ताकत की जरूरत नहीं है, बल्कि आपको टाइमिंग की जरूरत है. गेंद को बल्ले के बीच में लगना चाहिए और आपका सिर स्थिर रहना चाहिए.”