VishyAnand resize Also Read - World Chess Championship: Magnus Carlsen defends title against Viswanathan Anand

चेन्नई: भारतीय ग्रैंडमास्टर विश्वनाथन आनंद के खिलाफ गुरुवार को विश्व शतरंज चैम्पियनशिप की नौवीं बाजी में मौजूदा चैम्पियन नॉर्वे के मैगनस कार्लसन ने सुरक्षित रणनीति अपनाते हुए मैच ड्रॉ करवा लिया। Also Read - World Chess Championship: Vishwanathana Anand draws game 4 with Magnus Carlsen

रूस के सोची में चल रहे चैम्पियनशिप में गुरुवार को सफेद मोहरों से खेलते हुए कार्लसन ने आनंद को लगातार चेक देते हुए ड्रॉ की राह चुनी।

अंतर्राष्ट्रीय शतरंज के दोनों शीर्ष खिलाड़ियों ने 20वीं चाल के बाद अंक बांटने पर सहमति जता दी।

नौवीं बाजी के बाद मैच में कार्लसन पांच अंक लेकर एक अंक की बढ़त बनाए हुए हैं, जबकि आनंद एकमात्र जीत के साथ चार अंक ले चुके हैं।

कार्लसन ने राजा के आगे वाले प्यादे को आगे बढ़ाते हुए मैच की शुरुआत की, जिसके जवाब में आनंद ने भी वही चाल चली।

पांच बार के चैम्पियन आनंद ने बर्लिन डिफेंस की रणनीति अपनाई और काफी तेज चालें चलीं, जिससे आनंद की अच्छी तैयारी झलक रही थी।

सातवीं विश्व वरीयता प्राप्त ग्रैंडमास्टर अनीस गिरी ने आईएएनएस से कहा, “यह बहुत ही छोटी बाजी रही, जिसमें दोनों खिलाड़ी ड्रॉ पर सहमत हुए। कार्लसन मैच में एक अंक से आगे चल रहे हैं, जबकि आनंद के सफेद मोहरों के साथ अभी दो मैच बचे हुए हैं।”

26वीं वरीयता प्राप्त ग्रैंडमास्टर पी. हरिकृष्ण ने आईएएनएस से कहा, “15वीं चाल के बाद ही बाजी का ड्रॉ होना तय हो गया था। कार्लसन पूरी तरह ड्रॉ कराने की रणनीति के साथ खेल रहे थे। सातवीं बाजी भी लगभग ऐसी ही रही थी।”

हरिकृष्ण ने कहा, “बाजी का जल्द ड्रॉ होना आनंद के लिए अच्छा है। आनंद के लिए परिणाम सकारात्मक रहा, क्योंकि काले मोहरों के साथ खेलते हुए कार्लसन को ड्रॉ पर रोकने में सफल रहे। एक बाजी को छोड़कर आनंद को काले मोहरों से खेलते हुए परेशानी हो रही है।”

हरिकृष्ण के मुताबिक यदि कार्लसन लगातार चेक देते हुए ड्रॉ की ओर नहीं जाते तो वह परेशानी में पड़ सकते थे।

आनंद ने सिर्फ 15 मिनट का समय लिया, जबकि कार्लसन ने 20 चालें चलने में लगभग 50 मिनट लगाए।

हरिकृष्ण से जब पूछा गया कि क्या आनंद को बाजी की शुरुआत में ही वजीर खोने से बचना चाहिए था तो उन्होंने कहा कि काले मोहरों से खेलते हुए बर्लिन डिफेंस की रणनीति काफी अच्छी होती है।

अब शतरंज के दोनों धुरंधर शुक्रवार को 10वीं बाजी खेलेंगे।