नई दिल्ली. टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली इस वक्त जिस जबरदस्त फॉर्म में है, उनका बल्ला जिस अंदाज में रन उगल रहा है, उससे कई रिकॉर्ड तो टूट चुके हैं और कईयों के लिए खतरा अभी बना हुआ है. इन्हीं में से एक है वेस्टइंडीज के पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज विव रिचर्ड्स का 42 साल पहले बनाया हुआ इंटरनेशनल कीर्तिमान. Also Read - KXIP vs RCB: अजीत अगरकर ने विराट के निर्णयों उठाए सवाल, बोले- कभी रेस में ही नहीं थे...

Also Read - मैंने कोहली के प्रदर्शन के लिए उसे दोष कब दिया?; पूर्व कप्तान गावस्कर ने दिया अनुष्का शर्मा को जवाब;

1976 में रिचर्ड्स ने बनाया रिकॉर्ड Also Read - अनुष्‍का शर्मा को लेकर विवादित बयान पर सुनील गावस्‍कर ने दी सफाई, बोले- मैंने तो सिर्फ…

42 साल पहले यानी साल 1976 में विव रिचर्ड्स पहले ऐसे बल्लेबाज बने थे, जिनके नाम किसी इंटरनेशनल टूर पर 1000 से ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड दर्ज हुआ था. रिचर्ड्स ने ये कीर्तिमान इंग्लैंड दौरे पर बनाया था. उस दौरे पर इंग्लैंड में खेली टेस्ट और वनडे सीरीज को मिलाकर सर विव रिचर्ड्स ने 1045 रन बनाए थे. इनमें 829 रन रिचर्ड्स के बल्ले से टेस्ट सीरीज में निकले थे जबकि 216 रन वनडे सीरीज में.

कोहली का ‘मिशन 201’ करेगा कमाल

लेकिन अब विराट कोहली साउथ अफ्रीका के दौरे पर सर विव रिचर्ड्स के इस रिकॉर्ड को तोड़ सकते हैं. टेस्ट और वनडे सीरीज के खत्म होने के बाद विराट कोहली के नाम साउथ अफ्रीका दौरे पर अब तक 844 रन दर्ज है. इनमें 286 रन उनके बल्ले से टेस्ट सीरीज में निकले हैं जबकि 558 रन वनडे सीरीज में. इसका मतलब है कि किसी इंटरनेशनल टूर पर रिचर्ड्स के बाद 1000 रन दूसरे बल्लेबाज बनने के लिए कोहली को 156 रनों की दरकार है. जबकि, रिचर्ड्स के कायम किए सर्वाधिक रनों के रिकॉर्ड को तोड़ने के लिए 201 रनों की जरुरत है.

वर्ल्ड क्रिकेट में बादशाहत की जंग: "मेरा मुकाबला खुद से है"

वर्ल्ड क्रिकेट में बादशाहत की जंग: "मेरा मुकाबला खुद से है"

भारत को साउथ अफ्रीका से 3 टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी है. ऐसे में कोहली की काबिलियत और उनके लाजवाब फॉर्म को देखते हुए विव रिचर्ड्स के रिकॉर्ड के टूटने का खतरा बना हुआ है.

टेस्ट और वनडे सीरीज में विराट कोहली टॉप स्कोरर रहे हैं. अब अगर T20 सीरीज में उनका टॉप क्लास फॉर्म यूं ही बरकरार रहा तो यकीनन वो ना सिर्फ साउथ अफ्रीका के इंटरनेशनल दौरे पर एक हजारी बन जाएंगे बल्कि रिचर्ड्स के रिकॉर्ड को तोड़ते हुए इंटरनेशनल T-20 में मार्टिन गुप्टिल के सर्वाधिक रनों के रिकॉर्ड को भी तोड़ने के भी और करीब पहुंच जाएंगे.