पूर्व भारतीय दिग्गज बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण को लगता है कि मयंक अग्रवाल का बल्लेबाजी में ‘बेपरवाह’ अंदाज काफी हद तक वीरेंद्र सहवाग से मेल खाता है जो कर्नाटक के इस बल्लेबाज के आदर्श भी हैं.

2019 Dutch Badminton Open : हैदराबाद और वियतनाम ओपन जीतने के बाद सौरभ की नजर डच ओपन पर

दूसरी तरफ पूर्व भारतीय स्पिनर हरभजन सिंह का मानना है कि ऑस्ट्रेलिया के अपने पहले टेस्ट दौरे में दो अर्धशतक जमाकर लोगों का ध्यान अपनी तरफ खींचने वाले अग्रवाल ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विशाखापत्तनम में दोहरा शतक (215) बनाने से राष्ट्रीय टीम में अपनी जगह पक्की कर ली है.

एक स्पोटर्स चैनल के एक्सपर्ट लक्ष्मण ने ‘क्रिकेट लाइव’ में अग्रवाल के प्रदर्शन के बारे में कहा, ‘वह मंझा हुआ बल्लेबाज है और इस मैच में उनका रवैया घरेलू क्रिकेट जैसा ही था. खिलाड़ी अमूमन घरेलू और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपने खेल का तरीका बदल देते हैं लेकिन उन्होंने दोनों तरह की क्रिकेट में अपनी शैली बनाए रखी है. मानसिक मजबूती और स्थिरता उनका मजबूत पक्ष है और वह अपने पसंदीदा वीरेंद्र सहवाग की तरह बेपरवाह होकर खेलते हैं.’

वनडे और टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद इस पाकिस्तानी दिग्गज ने टी-20 फॉर्मेट में बना लिया ये रिकॉर्ड

हरभजन ने कहा कि घरेलू क्रिकेट में कई साल खेलने का मयंक को फायदा मिला है क्योंकि वह जानते हैं कि उनसे क्या उम्मीद की जा रही है.

उन्होंने कहा, ‘मयंक जब आगे बढ़कर खेलते हैं तो अपने पांवों का अच्छा इस्तेमाल करते हैं और रिवर्स स्वीप का भी अच्छा नमूना पेश करते हैं. उनके पास कई तरह के स्ट्रोक हैं और जब भी जरूरत पड़ती है वह इन्हें खेलते हैं. वह कड़ी मेहनत करने वाला खिलाड़ी है. घरेलू क्रिकेट में काफी समय बिताने वाला खिलाड़ी पहले ही काफी कुछ सीख चुका होता है.’

हरभजन ने कहा, ‘वे भले देर से राष्ट्रीय टीम में आएं लेकिन उन्हें खेल की इतनी अधिक जानकारी और अनुभव होता है कि वे अपने मौके के महत्व को समझते हैं.’