भारतीय क्रिकेट टीम ने 2018 में ऑस्ट्रेलिया में जाकर टेस्ट सीरीज अपने नाम की थी. यह ऑस्ट्रेलिया में उपमहाद्वीप की किसी टीम की टेस्ट सीरीज में पहली सफलता थी. भारतीय टीम ने जब इस ऐतिहासिक सीरीज को अपने नाम की उस समय कंगारू टीम में विस्फोटक ओपनर डेविड वॉर्नर और स्टीव स्मिथ नहीं थे क्योंकि गेंद से छेड़छाड़ के मामले में उनपर एक साल का बैन लगा हुआ था. Also Read - विदेश में सर्वाधिक सेंचुरी जड़ने के मामले में भारतीय क्रिकेटर्स टॉप पर, सचिन नंबर वन तो कोहली नंबर टू

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान वकार युनूस का मानना है कि भारतीय क्रिकेट टीम की ऑस्ट्रेलिया में 2018 में टेस्ट सीरीज में सफलता इसलिए मिली क्योंकि स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर जैसे दिग्गज गेंद से छेड़छाड़ के कारण मेजबान टीम से बाहर थे. Also Read - हरभजन सिंह ने टीम इंडिया में वापसी की भरी हुंकार, बोले- T20 तो खेल ही सकता हूं

वर्चुअल फॉर्मूला वन रेस में बेन स्टोक्स ने किया डेब्यू, 19 खिलाड़ियों के बीच रहे आखिरी स्थान पर Also Read - कोहली-स्मिथ जैसा बल्लेबाज बनने के करीब हैं बाबर आजम : मिसबाह उल हक

पाकिस्तान के मौजूदा गेंदबाजी कोच से जब पूछा गया कि उनकी टीम ने ऑस्ट्रेलिया में 1995 के बाद एक भी टेस्ट नहीं जीता है, इस पर उन्होंने कहा, ‘मैं भारतीय टीम से कोई श्रेय लेने की कोशिश नहीं कर रहा हूं, उन्होंने अच्छा खेला और वे बहुत अच्छी टीम हैं. लेकिन जब उनकी टीम ऑस्ट्रेलिया में जीती थी तब ऑस्ट्रेलियाई टीम मुश्किल दौर से गुजर रही थी और उनके ड्रेसिंग रूम में समस्याएं थीं. टीम में स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर जैसे दिग्गज मौजूद नहीं थे.’

खाली स्टेडियम में क्रिकेट मैच के आयोजन के सवाल पर बिफरा ये पाकिस्तानी दिग्गज, कहा-मैं इस सुझाव…

विराट कोहली की अगुआई वाली भारतीय टीम ने इस सीरीज को 2-1 से अपने नाम की थी. भारतीय टीम पिछले कुछ वर्षों से अच्छा प्रदर्शन कर रही है. टीम इंडिया ने इस वर्ष न्यूजीलैंड में जाकर मेजबान टीम को 5 मैचों की टी20 सीरीज में पूरी तरह से क्लीनस्वीप कर दिया था.