टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) में पदक जीतने वाली भारतीय भारोत्तोलक मीराबाई चानू (Mirabai Chanu) सोमवार को स्वदेश लौटी तो हवाई अड्डे पर उनका गर्मजोशी से स्वागत किया गया।Also Read - नीरज चोपड़ा, सुमित अंतिल की सफलता के बाद क्रिकेट जितना लोकप्रिय होगा भालाफेंक: अनुराग ठाकुर

भारतीय भारोत्तलक के दिल्ली पहुंचते ही मणिपुर सरकार ने ओलंपिक रजत पदक विजेता को पुलिस विभाग में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (खेल) नियुक्त करने का निर्णय किया। Also Read - उत्कृष्टता हासिल करने के लिए विराट कोहली को फॉलो करना चाहते हैं पीआर श्रीजेश

चानू सुरक्षाकर्मियों के बीच इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से बाहर निकली, जहां उनके चेहरे पर मास्क और फेस शील्ड लगा था। उन्होंने दिल्ली पहुंचने के बाद ट्वीट किया, ‘‘इतने प्यार और समर्थन के बीच यहां वापस आकर खुशी हो रही है। बहुत – बहुत धन्यवाद।’’ Also Read - टोक्यो ओलम्पिक में पदक से चूके 24 खिलाड़ियों को गिफ्ट में मिली कार, टाटा मोटर्स ने किया सम्मानित

इस 26 साल की खिलाड़ी का ‘भारत माता की जय’ के नारों से स्वागत किया गया और भारतीय खेल प्राधिकरण के अधिकारियों सहित अन्य लोगों ने उनका अभिनंदन किया।

मणिपुर की इस खिलाड़ी ने 49 किग्रा वर्ग में कुल 202 किग्रा (87 किग्रा + 115 किग्रा) भार उठाकर शनिवार को रजत पदक हासिल किया था। इससे पहले भारोत्तोलन में 2000 सिडनी ओलंपिक में कर्णम मल्लेश्वरी के कांस्य पदक जीता था।

इस शानदार प्रदर्शन से उन्होंने 2016 के खेलों की निराशा को दूर किया जहां वह एक भी वैध भार उठाने में विफल रही थी।

चानू पूर्व विश्व चैंपियन और राष्ट्रमंडल खेलों की स्वर्ण पदक विजेता भी रह चुकी हैं। वो इन खेलों से पहले अमेरिका में अभ्यास कर रही थी और अपने आत्मविश्वास से भरे प्रदर्शन के साथ पदक की उम्मीदों पर खरी उतरी।