नई दिल्ली. केपटाउन के बॉल टेंपरिंग कांड पर मचा बवाल खिलाड़ियों के बैन पर आकर थम चुका है. इस घटना ने ना सिर्फ ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट बल्कि पूरे वर्ल्ड क्रिकेट को हिलाकर रख दिया था. मैदान पर बॉल टेंपरिंग को अंजाम देने वाले कैमरून बेनक्रॉप्ट और इस गुनाह में उनके पीछे खड़े कप्तान स्टीव स्मिथ ने तो अपनी चुप्पी कैमरे पर पहली बार मामले के सामने आने के बाद ही तोड़ दी थी. लेकिन इस पूरी घटना के मास्टर माइंड डेविड वॉर्नर अब तक खामोश थे. बहरहाल जब साउथ अफ्रीका से ऑस्ट्रेलिया के लिए उन्हें विदा किया गया तो अपने इस सफर के दौरान उन्होंने सोशल मीडिया पर अपनी इस चुप्पी को पहली बार तोड़ा है. बॉल टेंपरिंग कांड के मास्टर माइंड डेविड वॉर्नर ने ट्वीट के जरिए कहा कि उनसे बड़ी भूल हो गई. Also Read - SRH vs KKR: लॉकी फर्ग्‍यूसन ने सुपर ओवर में पलट दिया मैच, ये हैं कोलकाता की जीत के पांच हीरोज

 

वॉर्नर ने क्या कहा ?

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व उप-कप्तान वॉर्नर ने ट्वीट कर कहा, ” ऑस्ट्रेलिया और पूरी दुनिया के क्रिकेट फैंस से मैं ये कहना चाहता हूं कि फिलहाल मैं सिडनी के सफर पर हूं. हमसे गलती हुई है और इस गलती से क्रिकेट को बड़ा नुकसान हुआ है. मैं इस घटना की पूरी जिम्मेदारी लेते हुए माफी मांगता हूं. मैं समझता हूं कि इससे क्रिकेट के खेल और उसके फैंस की भावनाएं आहत हुईं हैं. वो भावनाएं जिन्हें हम सब चाहते हैं और मेरा तो तब से इससे लगाव है जब मैं एक छोटा लड़का था. मैं अब अपने परिवार, दोस्त और करीबी सलाहकारों के साथ बेहतर पल बिताना चाहता हूं. कुछ दिनों में मैं आप सभी को इस बारे में बताउंगा भी. ”

बॉल टेंपरिंग के मास्टर माइंड वॉर्नर

बॉल टेंपरिंग की घटना के बाद आया ये डेविड वॉर्नर का पहला बयान है. इससे पहले वो क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की जांच में बॉल टेंपरिंग के सबसे बड़े दोषी पाए गए थे. उनपर एक युवा क्रिकेटर को गेंद से छेड़छाड़ के लिए उकसाने जैसे संगीन आरोप लगे, जिसके बाद उन पर 1 साल का बैन लगा और भविष्य में कभी भी ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट में किसी बड़ी जिम्मेदारी को संभालने से हाथ धोना पड़ा.

पहले भी विवादों में आए सामने

बॉल टेंपरिंग कांड में शामिल होने से पहले भी वॉर्नर अफ्रीकी दौरे पर दो बार विवादों में सामने आए. इनमें एक बार उनका नाम प्रोटियाज विकेटकीपर क्वांटन डिकॉक के साथ हाथापाई को लेकर उछला तो दूसरी बार क्रिकेट फैंस के साथ धक्का मुक्की को लेकर. इन दोनों घटनाओं ने तो वॉर्नर के लिए ज्यादा परेशानी नहीं खड़ी की. लेकिन केपटाउन में हुई बॉल टेंपरिंग की घटना ने उन्हें क्रिकेट से 12 महीने के लिए दूर कर दिया. यही नहीं इनका आईपीएल का करार भी एक साल के लिए रद्द कर दिया गया.

इतने बुरे भी नहीं वॉर्नर- लेहमन

 

बॉल टेंपरिंग में क्लीन चिट पा चुके ऑस्ट्रेलियाई टीम के कोच डैरेन लेहमन ने भी अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में माना कि वॉर्नर और स्मिथ से बड़ी गलती हुई लेकिन वे बुरे इंसान नहीं है.