एक ओर जहां कोविड-19 महामारी के दुनिया भर में क्रिकेट की सभी गतिविधियां ठप्प हैं वहीं दूसरी ओर पाकिस्तानी क्रिकेट में खिलाड़ियों की ओर से आरोप-प्रत्यारोप का दौरा जारी है. कोरोनावायरस के कारण कई देशों में लॉकडाउन घोषित है. ऐसे में खिलाड़ी अपने घरों में कैद होने को मजबूर हैं. पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज वसीम अकरम ने टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज आमिर सोहेल के संदर्भ में कहा है कि कुछ लोग अब भी चर्चा में रहने के लिए उनके नाम का उपयोग करते हैं.Also Read - पाकिस्‍तान मूल के कंगारू बल्‍लेबाज Usman Khawaja ने उगला जहर, 'भारत जाने से किसी को दिक्‍कत नहीं है क्‍योंकि...'

सोहेल ने आरोप लगाया था कि वसीम अकरम के कारण ही 1992 के बाद पाकिस्तान वर्ल्‍ड कप नहीं जीत पाया. एक स्‍थानीय टीवी चैनल को दिए इंटरव्‍यू में पूर्व पाकिस्‍तानी कप्‍तान ने आरोप लगाया था कि तेज गेंदबाज वसीम अकरम ने यह तय किया कि 1992 के बाद पाकिस्‍तान कोई वर्ल्‍ड कप ना जीते. Also Read - Ramiz Raja ने आधिकारिक रूप से संभाला PCB प्रमुख का पदभार, बताया इन मुद्दाें पर रहेगा फोकस

चेन्नई सुपरकिंग्स को याद आ रहे लंबे बाल वाले MS Dhoni, शेयर की फोटो Also Read - Pakistan Cricket Team Interim Coach Saqlain Mushtaq says he will take complete responsibility of Team

अकरम ने एक वेब कार्यक्रम में कहा, ‘जब भी मैं इस बारे में इन नकारात्मक चीजों के बारे में सुनता हूं तो मुझे बहुत दुख होता है कि मुझे संन्यास लिए 17 साल हो गए हैं लेकिन कुछ लोग अब भी खुद को चर्चा में रखने के लिए मेरे नाम का इस्तेमाल करते हैं.’ उन्होंने कहा कि वह भी अन्य के लिए नकारात्मक बातें कर सकते हैं लेकिन वह खुद को ऐसा करने से रोकते हैं.

क्रिकेट मैदान पर वापसी के लिए 2 महीने तक फैमिली से दूर रहने को तैयार ये पेसर, बताई वजह

पूर्व पाकिस्तानी कप्तान सोहेल ने दावा किया कि 1996 और 1999 में कप्तान और 2003 में सीनियर खिलाफ के रूप में अकरम की भूमिका ने यह तय कर दिया कि पाकिस्तान 1992 के इतिहास को नहीं दोहरा सकता.