नई दिल्ली: भारतीय तेज गेंदबाजों से प्रभावित पाकिस्तान के महान तेज गेंदबाज वसीम अकरम का मानना है कि मोहम्मद शमी अगर अपना रनअप दुरूस्त कर लें और जसप्रीत बुमराह कुछ समय काउंटी क्रिकेट खेलें तो वे इंग्लैंड दौरे पर कहर बरपा सकते हैं. दुनिया के सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाजों में शुमार अकरम का मानना है कि मौजूदा भारतीय तेज आक्रमण आत्मविश्वास से ओतप्रोत है.

उन्होंने कहा, ”शमी अच्छा गेंदबाज है लेकिन कई बार मुझे लगता है कि वह सुस्त है. तेज गेंदबाज होने के नाते उसे चुस्ती के साथ बल्लेबाज को गलती करने पर मजबूर करते रहना चाहिये.”

डुमिनी के मन में चहल-कुलदीप का खौफ, चौथे वनडे से पहले लेंगे स्पेशल ट्रेनिंग

तकनीकी पहलू पर विस्तार से पूछने पर अकरम ने कहा, ”अपने रनअप के समय शमी कई बार क्रीज पर पहुंचने से ठीक पहले छोटे कदम लेता है. कई बार लय से भटकने पर कदम छोटे हो जाते हैं और गेंद सटीक नहीं पड़ती. उन्होंने कहा, ”इससे गेंदबाज की रफ्तार भी कम हो जाती है.”

शमी का घुटने की चोटों का इतिहास रहा है और अकरम ने स्वीकार किया कि यह चिंता की बात है. उन्होंने कहा, ”शमी के साथ मसला रहेगा. शोएब अख्तर को भी घुटने ने परेशान किया. उसे शरीर के निचले हिस्से की मांसपेशियों पर काम करना होगा.”

आक्रामक रवैये पर कोहली का बयान, कहा 34-35 की उम्र में भी इसी तरह खेलना चाहूंगा

माइकल होल्डिंग ने हाल ही में कहा था कि बुमराह को अपने गेंदबाजी एक्शन के कारण इंग्लैंड में सफलता नहीं मिलेगी लेकिन अकरम का मानना है कि इस पर काम हो सकता है. उन्होंने कहा, ”मैं माइक से इत्तेफाक रखता हूं कि इंग्लैंड की पिचों पर इस तरह के एक्शन से कामयाबी नहीं मिल सकती लेकिन यह अनुभव के साथ ही आयेगा. बीसीसीआई अपने प्रमुख खिलाड़ियों को काउंटी क्रिकेट नहीं खेलने देता.”

उन्होंने कहा, ”बुमराह अगर कम से कम एक महीने काउंटी क्रिकेट खेले तो वह बेहतर बल्लेबाज हो सकता है. भारतीय बोर्ड को बुमराह को बताना होगा कि आईपीएल छोड़कर एक महीना काउंटी खेले. उन्होंने कहा कि मौजूदा भारतीय तेज गेंदबाजों में भुवनेश्वर कुमार सर्वश्रेष्ठ है. उन्होंने कहा, ”मुझे भुवनेश्वर कुमार दक्षिण अफ्रीका में सबसे प्रभावी तेज गेंदबाज लगा. वह दोनों तरफ से गेंद को स्विंग करा रहा है. अब अधिक रफ्तार के साथ वह और प्रभावी हो गया है.”