नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट में धमाकेदार बल्लेबाजी और कीपिंग के अगले कॉम्बो सेंशेसन का नाम है रिषभ पंत. वैसे तो भारतीय क्रिकेट का हर उभरता सितारा खुद को धोनी की तरह बनते देखना चाहता है लेकिन पंत को भारतीय क्रिकेट में धोनी के विकल्प के तौर पर देखा जा रहा है.

ये वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने वाले पंत सबसे युवा कीपर

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एडिलेड में खेले पहले टेस्ट मैच में रिषभ पंत एक टेस्ट मैच में सबसे ज्यादा शिकार करने वाले दुनिया के सबसे युवा विकेटकीपर बनने के साथ साथ वर्ल्ड रिकॉर्ड की बराबरी की. एडिलेड में पंत ने कुल 11 शिकार कर वर्ल्ड रिकॉर्ड की बराबरी की. विकेट के पीछे खड़े होकर एक टेस्ट में 11 शिकार करने का रिकॉर्ड कमाल पहली बार जैक रसेल ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ 1995 में जोहांसबर्ग टेस्ट में किया था. उसके बाद एबी डिविलियर्स ने रसेल की कामयाबी साल 2013 में पाकिस्तान के खिलाफ जोहांसबर्ग में खेले टेस्ट में ही दोहराया. और, एडिलेड में पंत ने वही किस्सा तीसरी बार कर दिखाया.

‘बड़े भइया’ की स्ट्रेटजी ने दिलाई एडिलेड में जीत, मैच के बाद बोले विराट कोहली

‘करियर पर धोनी का प्रभाव रहा’

इस वर्ल्ड रिकॉर्ड पर जब रिषभ पंत से सवाल किया गया तो उन्होंने इसे धोनी का प्रभाव बताया. उन्होंने कहा कि वो कीर्तिमानों पर ज्यादा ध्यान नहीं देते. दबाव में कैसे निपटा जाए ये उनकी कोशिश होती है. इसे लेकर वो धोनी से काफी प्रभावित है. पंत ने कहा कि इंडियन क्रिकेट में धोनी कीपिंग में अपने प्रयोगों के लिए जाने जाते हैं और उन प्रयोगों का मुझ पर भी प्रभाव पड़ा.

कैच में गिली, स्टंप में धोनी

पंत से जब गिलक्रिस्ट और धोनी के विकेटकीपिंग अंदाज के लेकर सवाल किया गया कि दोनों में बेहतर कौन है इस मुश्किल सवाल का भी जवाब देने का उन्होंने आसान तरीका ढूंढ़ निकाला. पंत ने कहा वो स्टंपिंग में धोनी को चुनना चाहेंगे और कैच के लिए गिलक्रिस्ट का नाम लेना चाहेंगे.